त्रिपुरा सरकार (Tripura government) ने सीमा पार अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने वाली हिंसा के मद्देनजर अगरतला में बांग्लादेश सरकार (Bangladesh government) का तीन दिवसीय फिल्म महोत्सव गुरुवार यानी कल 22 अक्टूबर से शुरू होने वाला था, जिसे स्थगित कर दिया गया है। अगरतला में बांग्लादेश सहायक उच्चायोग (BAHC) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि त्योहार "अपरिहार्य परिस्थितियों के कारण" स्थगित कर दिया गया है।

अधिकारी ने बताया कि "प्रस्तावित फिल्म महोत्सव में, 34 फिल्मों, जिनमें से ज्यादातर 'मुक्ति युद्ध' (1971 बांग्लादेश मुक्ति संग्राम) पर आधारित थीं, को 21 से 23 अक्टूबर तक रवींद्र सतबर्शिकी सभागार में प्रदर्शित करने की योजना थी।"

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब (Tripura CM Biplab Kumar Deb) ने बांग्लादेश सरकार से उस देश में अल्पसंख्यकों के जीवन, संपत्ति और धार्मिक स्थलों की रक्षा करने का आग्रह किया है। असम और त्रिपुरा में कई संगठनों, बुद्धिजीवियों, राजनीतिक दलों और गैर सरकारी संगठनों ने पड़ोसी देश में सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ विरोध रैलियों का आयोजन करने के अलावा, बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के लोगों पर हाल के हमलों की निंदा की है।

बता दें कि दुर्गा पूजा  (Durga Puja) स्थल पर कुरान के कथित अपमान के बारे में सोशल मीडिया पर अपुष्ट पोस्ट वायरल होने के बाद, पिछले हफ्ते की शुरुआत में कोमिला में भीड़ की हिंसा भड़क उठी थी, जिसके बाद हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की गई थी। प्रधानमंत्री शेख हसीना (PM Sheikh Hasina) ने दुर्गा पूजा के दौरान कोमिला मंदिर में एक दुर्गा मूर्ति के चरणों में कुरान की नकली तस्वीरें फैलाकर सांप्रदायिक अशांति भड़काने में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का वादा किया है।