त्रिपुरा में पुलिस (Tripura Police) ने गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) के तहत 102 सोशल मीडिया हैंडल पर आरोप लगाए हैं। त्रिपुरा पुलिस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म- ट्विटर, फेसबुक और यूट्यूब को भी नोटिस जारी कर उन 102 खातों को ब्लॉक करने को कहा है जिन पर यूएपीए का आरोप लगाया गया है।
पुलिस ने सोशल मीडिया (social media) प्लेटफॉर्म अथॉरिटीज से इन अकाउंट्स के यूजर्स के बारे में भी विस्तृत जानकारी मांगी है। इन 102 सोशल मीडिया हैंडल पर राज्य में हालिया सांप्रदायिक हिंसा (communal violence) के संबंध में कथित रूप से "आपत्तिजनक समाचार / बयान" साझा करने के लिए यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने अपने नोटिस में कहा ट्विटर कि “कुछ व्यक्ति / संगठन राज्य में मुस्लिम समुदायों की मस्जिदों पर हालिया झड़प और कथित हमले के संबंध में ट्विटर पर विकृत और आपत्तिजनक समाचार / बयान प्रकाशित / पोस्ट कर रहे हैं। इन समाचारों/पोस्टों को प्रकाशित करने में, व्यक्तियों/संगठनों को कुछ अन्य घटनाओं के फोटो/वीडियो, मनगढ़ंत बयान/टिप्पणी का उपयोग करते हुए धार्मिक समूहों/समुदायों के बीच एक आपराधिक साजिश की उपस्थिति में दुश्मनी को बढ़ावा देने के लिए पाया गया है, ”।