कटिहार स्टेशन पर सोमवार को स्वास्थ्य कर्मियों के मानवीय सेवा का एक बड़ा उदाहरण देखने को मिला। चलती ट्रेन में एक प्रवासी मजदूर की पत्नी को प्रसव वेदना हुई। महिला त्रिपुरा से आ रही थी। रास्ते में ही उसे प्रसव पीड़ा शुरू होने लगी। रेल प्रशासन ने भी इसे गंभीरता से लिया और इसकी सूचना तत्काल कटिहार प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को दी।


जैसे ही कटिहार में ट्रेन पहुंची डॉक्टर सहित अन्य कर्मी प्रसव पीड़ा से छटपटाती महिला की देखभाल शुरू कर दी। ईश्वर ने भी साथ दिया और महिला ने एक बच्ची को जन्म दे दिया। आधे घंटे तक ट्रेन रूकी रही और बाद में महिला और उसके पति के कहने पर उसे उसी ट्रेन से खगड़िया भेज दिया।


श्रमिक ट्रेन 05623 से त्रिपुरा से प्रवासी मजदूर बिनोद चौहान अपनी गर्भवती पत्नी के साथ नवादा जा रहा था। डॉ. सुलोचना, एएनएम गीता कुमार, ममता आशा देवी कटिहार स्टेशन पर ट्रेन के पहुंचते ही पहुंच गई और तुरंत महिला के सेवा में लग गई और सफल सामान्य प्रसव कराया।


डॉ. सुलोचना के अनुसार महिला ने सामान्य रूप से बच्ची को जन्म दिया है। जच्चा और बच्चा दोनों ठीक है। पति प्रवासी मजदूर जो मूल रूप से नवादा का रहने वाला है और श्रमिक स्पेशल ट्रेन से त्रिपुरा से नवादा की ओर जो रहा था।