अगरतला। त्रिपुरा (Tripura) के कमालपुर गांव में गुरुवार की देर शाम सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के समर्थकों द्वारा 48 वर्षीय भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्सवादी (CPI(M)) समर्थक बेनू विश्वास (Benu Biswas) की कथित तौर पर हत्या कर दी गई। 

यह बताया गया है कि त्रिपुरा में सत्तारूढ़ भगवा पार्टी के चार से पांच समर्थकों ने बेनू बिस्वास की हत्या कर दी थी, जब वह बाजार से घर की ओर जा रहे थे।

मृतक के भतीजे ने आरोप लगाया, 'मेरे चाचा बेनू विश्वास गुरुवार देर शाम बाजार से अपनी साइकिल पर घर लौट रहे थे और उस समय सत्ताधारी पार्टी के कुछ समर्थकों ने उन पर कथित तौर पर हमला कर दिया। अपने चाचा की चीख सुनकर मैं मौके पर पहुंचा और जॉयदेब सरकार और मिथुन करमाकर को बांस की डंडियों के साथ पाया, जबकि बाकी मौके से भाग गए।

बेलोनिया अनुमंडल के कमालपुर में कथित सत्तारूढ़ भाजपा समर्थकों द्वारा माकपा समर्थक की हत्या के बाद शुक्रवार की सुबह ग्रामीणों ने इस हत्याकांड में शामिल आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया।

ग्रामीणों ने कहा, 'हम अपराधी की तत्काल गिरफ्तारी चाहते हैं। पीआर बारी थाने में झुटन चक्रवर्ती, नरेश चक्रवर्ती, जोयदेब सरकार और माणिक लाल सरकार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। सत्तारूढ़ भाजपा के कुछ स्थानीय माफियाओं ने हमें हमारी नाकाबंदी हटाने की धमकी दी, नहीं तो हमें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

इस बीच, त्रिपुरा माकपा सचिव और पूर्व सांसद जितेंद्र चौधरी, विधायक सुधन दास और रतन भौमिक शुक्रवार सुबह मृतक के घर पहुंचे, जब शव उनके घर पहुंचा।

पत्रकारों से बात करते हुए, जितेंद्र ने कहा, 'इस राज्य में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के गठन के बाद हमारी पार्टी के कार्यकर्ता की यह 23वीं हत्या है। इस हत्याकांड में शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ग्रामीणों ने आज सुबह से ही सड़क जाम कर धरना प्रदर्शन किया।

उन्होंने दावा किया "बेनू विश्वास अच्छे इंसान थे, लेकिन उनकी गलती यह थी कि वे विपक्षी दल यानी सीपीआई-एम के समर्थक थे। कई बार बेनू के परिवार पर हमला किया गया। भाजपा के गुंडों ने हाल के दिनों में भगवा पार्टी का समर्थन नहीं करने के लिए कई अन्य लोगों पर हमला किया था। माकपा के राज्य सचिव ने यह आरोप लगाया है।

कथित भाजपा समर्थकों की इस बर्बर भूमिका पर प्रतिक्रिया देते हुए गत गुरुवार की देर शाम माकपा पश्चिम त्रिपुरा के जिला सचिव और पूर्व विधायक रतन दास ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ भगवा पार्टी के समर्थकों ने कल शाम बेनू विश्वास पर बेरहमी से हमला किया और मौके पर ही पीट-पीट कर मार डाला। उन्होंने कहा, इस संबंध में हम दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।