रायसिंहनगर इलाके में त्रिपुरा से आई बीएसएफ कंपनी के छह जवान रैपिड टेस्ट किट की जांच में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद राजकीय चिकित्सालय में भर्ती किया था। एक साथ छह जवान पॉजिटिव आने के बाद चिकित्सा विभाग में हडक़ंप मच गया। इनकी आरटीपीसीआर जांच कराई गई थी, जिसमें भी सभी छह जवान पॉजिटिव आए हैं। इनके साथी जवानों व संपर्क में आने वाले लोगों के भी सैंपल कराए गए थे, इनमें से पांच जवान कोरोना पॉजिटिव आए हैं। इनको भी भर्ती करने की कार्रवाई चल रही है।

पीएमओ डॉ. बलदेव सिंह ने बताया कि बीएसएफ की त्रिपुरा से एक कंपनी रायसिंहनगर इलाके में आई है। जहां छह जवानों की तबीयत ठीक नहीं होने पर रैपिड जांच किट से कोरोना की जांच कराई गई थी। जांच के दौरान शुक्रवार रात को छह जवान कोरोना पॉजिटिव आए। इसके बाद इन जवानों को यहां राजकीय चिकित्सालय में भर्ती किया गया है। अब इनकी आरटीपीसीआर जांच कराई गई। जिसमें सभी छह जवान कोरोना पॉजिटिव आए हैं। उन्होंने बताया कि फोर्स में अनुशासन सख्त होता है। इसलिए जवानों के जरिए अन्य किसी में वायरस फैलने की संभावना बहुत कम रहती है। जवानों को बाहर से आते ही क्वारंटीन कर दिया जाता है।

उधर, सीएमएचओ डॉ. गिरधारीलाल मेहरडा ने बताया कि 6 जवानों के रैपिड किट से जांच में कोरोना पॉजिटिव आने के बाद राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था। जहां उनकी आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लिए गए थे। इसके अलावा इनके संपर्क में आए लोगों व अन्य साथी जवानों के भी सैंपल लिए गए थे। रविवार को सभी की आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट मिली है। जिसमें पहले पॉजिटिव आए सभी छह जवान फिर पॉजिटिव आए हैं तथा इनके अलावा पांच अन्य जवान भी कोरोना पॉजिटिव आए हैं। कंपनी के व अन्य संपर्क में आने वाले 182 लोगों के सैंपल लिए गए थे। नए पांच कोरोना पॉजिटिव जवानों को भी राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया जा रहा है। इनको कोई खास लक्षण नहीं है लेकिन निगरानी व देखरेख के लिए भर्ती किया जा रहा है।