त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के ट्विटर हैंडल जैसा मिलता-जुलता अकाउंट कथित तौर पर बनाने और राज्य में लॉकडाउन लागू किये जाने के बारे में अफवाह फैलाने को लेकर 16 वर्षीय एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। यह किशोर यहां धलेश्वर इलाके का निवासी है और अंग्रेजी माध्यम के एक निजी स्कूल में 10 वीं कक्षा का छात्र है। 

पूर्वी अगरतला पुलिस थाना के प्रभारी अधिकारी किशोर भट्टाचार्य ने संवाददाताओं को बताया कि छात्र ने खुद को राज्य का मुख्यमंत्री बताते हुए मंगलवार को ट्विटर पर एक पोस्ट किया, जिसमें उसने कहा था कि राज्य सरकार ने 24 जुलाई से सात दिनों का लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया है। पूछताछ के दौरान छात्र ने स्वीकार किया कि उसने एक फर्जी ट्विटर हैंडल बनाया और अफवाह फैलाई। 

इस बीच छात्र को बुधवार को यहां किशोर न्याय बोर्ड के प्रधान मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया, जिन्होंने उसे जमानत दे दी। छात्र के वकील रघुनाथ मुखर्जी ने यह जानकारी दी। मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने कहा कि ट्विटर हैंडल फर्जी है और सरकार ने शुक्रवार से लॉकडाउन लागू करने का कोई निर्णय नहीं लिया है। पश्चिम त्रिपुरा जिले के पुलिस अधीक्षक माणिक दास ने कहा, ‘‘हमने उसके खिलाफ एक आपराधिक मामला दर्ज किया है।’’ उन्होंने लोगों से अफवाह नहीं फैलाने की अपील करते हुए कहा कि ऐसा करते हुए किसी के पाये जाने पर उससे सख्ती से निपटा जाएगा।