उत्तर प्रदेश में रविवार को आयोजित की जाने वाली UPTET 2021 परीक्षा को रद्द कर दिया गया है. रविवार को परीक्षा का पेपर लीक होने के कारण इसको रद्द करने का फैसला लिया गया, जिसके बाद प्रदेश में सियासत गर्मा गई.

पहले तो प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने ऐलान किया कि एक महीने के अंदर फिर से परीक्षा आयोजित होगी। इसके अलावा उम्मीदवारों के लिए उन्होंने मुफ्त बस सेवा की घोषणा की है। सीएम योगी ने ये भी कहा कि किसी भी उम्मीदवार से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा।

Koo App
UPTET के अभ्यर्थियों के साथ प्रदेश सरकार खड़ी है।      01 माह के अंदर पारदर्शी तरीके से पुनः परीक्षा आयोजित होगी।       किसी भी अभ्यर्थी से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा।       परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को आने-जाने हेतु उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों में निःशुल्क यात्रा की सुविधा दी जाएगी।
 
- Yogi Adityanath (@myogiadityanath) 28 Nov 2021
 

फिर साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि उम्मीदवारों भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा.

 

मामले के सामने आते ही इस पर सियासत तेज़ होने लगी. विपक्ष ने इसे मुद्दा बनाते हुए सरकार को घेरना शुरू कर दिया. सबसे पहले प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo App पर लिखा, UPTET की परीक्षा का पेपर लीक होना और परीक्षा रद्द होना दुःखद व दुर्भाग्यपूर्ण है। यह लाखों बेरोज़गार अभ्यर्थियों के भविष्य के साथ मजाक है। निष्पक्ष व पारदर्शी परीक्षा प्रणाली लागू करने में सरकार असफल रही है, इससे अभ्यर्थियों में निराशा है, @UPGovt दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे। 

 

फिर इसी कड़ी में, भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आज़ाद ने कहा कि अब UP-TET का पेपर लीक हो गया। करीब 21 लाख अभ्यर्थी पैसा खर्च करके भारी ठंड में सैकड़ों किलोमीटर दूर परीक्षा देने पहुँचे थे। एक तो वैकेंसी आती नहीं। आती भी है तो लीक हो जाती है। पहले दरोगा भर्ती का पेपर लीक हुआ और अब UP-TET का. छात्रों के इन परेशानियों की जिम्मेदारी कौन लेगा? योगी जी नकलविहीन परीक्षा कराने के बड़े दावे करते हैं पर जब परीक्षा का दिन आता है तो पेपर आउट! ऐसा क्यों? 

Koo App
अब UP-TET का पेपर लीक हो गया। करीब 21 लाख अभ्यर्थी पैसा खर्च करके भारी ठंड में सैकड़ो किलोमीटर दूर परीक्षा देने पहुँचे थे।       एक तो वैकेंसी आती नहीं। आती भी है तो लीक हो जाती है। पहले दरोगा भर्ती का पेपर लीक हुआ और अब UP-TET का. छात्रों के इन परेशानियों की जिम्मेदारी कौन लेगा?      योगी जी नकलविहीन परीक्षा कराने के बड़े दावे करते हैं पर जब परीक्षा का दिन आता है तो पेपर आउट! ऐसा क्यों? (1/2)
 
- Chandra Shekhar Aazad (@BhimArmyChief) 29 Nov 2021