अयोध्याः उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवन राम से पहले योगी आदित्यनाथ का मंदिर बनकर तैयार हो गया है. जिले के भरतकुंड में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की एक मूर्ति और ये मंदिर बनाया गया है. इस मंदिर में जो मूर्ति लगी है उसमें उन्हें भगवान राम के अवतार में दिखाया गया है. मंदिर का नाम श्री योगी मंदिर रखा गया है, जहां दिन में दो बार पूजा होती  है. पूजा के बाद भक्तों को 'प्रसाद’ भी बांटा जाता है. मुख्यमंत्री के लिए एक आरती की भी रचना की गई है, जिसका पाठ रोजाना किया जाता है. यह आरती भी उसी आदमी ने लिखी है जिसने इस मंदिर को बनवाया है. मूर्ति में सीएम योगी को हाथ में धनुष और कंधे पर बाण धारण किए हुए दिखाया गया है. मूर्ति को भगवा वस्त्र धारण कराया गया है जैसे की योगी आदित्यनाथ पहनते हैं.  

यह भी पढ़े : आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी की खुदाई में मिली करोड़ों की सरकारी सफाई मशीन, कीमत करोड़ों में 

अयोध्या-गोरखपुर राजमार्ग पर बना है मंदिर 

यह मंदिर अयोध्या-गोरखपुर राजमार्ग पर भरतकुंड के पास अयोध्या से लगभग 15 किमी की दूर बनाया गया है. ऐसा माना जाता है कि भरतकुंड वह जगह है जहां भगवान राम के भाई भरत ने उन्हें वनवास में जाने से पहले विदाई दी थी. गौरतलब है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर योगी आदित्यनाथ हमेशा से मुखर रहे हैं. उन्होंने अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर के ’गर्भ गृह’ की भी आधारशिला रखी थी.

यह भी पढ़े : Navratri 2022: कंफ्यूजन करें दूर, इस दिन से शुरू हो रही है नवरात्रि, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजन विधि 

इस शख्स ने बनवाया योगी मंदिर

योगी मंदिर बनवाने वाले प्रभाकर मौर्य ने बताया कि उन्होंने आयोध्या में राम मंदिर की संकल्पना को साकार करने वाले इंसान के लिए एक मंदिर बनाना चाहते थे. उन्होंने कहा, ’’सीएम योगी जिस तरह से काम कर रहे हैं, उससे मैं खुश हूं. मैंने संकल्प किया था कि अयोध्या में राम मंदिर बनाने वाले के नाम पर मैं मंदिर बनाऊंगा. मैंने श्री योगी मंदिर बनाकर आज अपना संकल्प पूरा किया है. मौर्य ने कहा कि वह मुख्यमंत्री के कार्यों से बहुत प्रभावित हैं. उन्होंने कहा, ’मुख्यमंत्री ने जिस तरह से जनकल्याणकारी कार्य किए हैं, उन्हें देवता तुल्य स्थान प्राप्त हुआ है.’’ मौर्य ने कहा कि वह बेरोजगार और भूमिहीन हैं, लेकिन यूट्यूब पर भजन और धार्मिक गीत पोस्ट करके हर महीने लगभग 1 लाख रुपये कमाते हैं. इसी पैसे से उन्होंने मंदिर बनवाया है.