गुवाहाटी। अंबुवासी निवृत्ति के साथ ही सोमवार को शक्तिपीठ मां कामाख्या  के सभी कपाट खोल दिए गए। मुख्यमंत्री सर्वानंद  सोनोवाल, स्वास्थ  एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हिंमंत विश्व शर्मा और ऊर्जा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पल्लव संलोचन दास सहित अन्य कई राजनीतिज्ञों ने आज मां कामाख्या के दर्शन किए और शांति , समृद्धि और राज्य के विकास की कामना की ।

 

यहा जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार मुख्यमंत्री न देश-विदेश से लाखों भत्तों का अंबुवासी  मेले में आने तथा इस धार्मिक समागम को सफल बनाने के लिए आभार व्यक्त किया। मंदिर के कपाट खोलने के बाद ही मुख्यमंत्री सोनोवाल ने राज्य के सभी स्तर के लोगों के कल्याण की कामना करते हुए पूजा अर्चन की और राज्य के विकास के लिए शुभ शक्तियों को मौका देने तथा  सभी अपशक्तियों पर काबूपाने की मां कामाख्या से प्रार्थना की । 

उन्होंने इस मौके पर शक्तिपीठ कामाख्य देवालय, सुरक्षा बल, सभी संगठन, एजेसियों और अन्य सभी व्यक्तियों  को अंबुवासी  मेले के सफल आयोजन के लिए धन्यवाद ज्ञापन किया।

एक बयान में मुख्यमंत्री ने कहा  कि अतिधि सत्कार और श्रद्धालुओं के प्रति  उच्च स्तरीय सम्मान प्रदान करने के लिए असम को जाना जाता  रहा है। इस बार  भी पांच  दिवसीय अंबुवासी  मले के दौरान  लाखों भत्तों के साथ इस परंपरा का निर्वाह  किया  गया । 

उन्होंने अंबुवासी मेला को  पर्यटकों के लिए आकर्षण के केंद्र  के रूप में बदलने पर बल दिया और यहां स्वच्छता, हरियाली और इसकी पवित्रता के माहौल को बनाए रखने की भी सभी से अपील की ।