करतारपुर साहिब कॉरिडोर (Kartarpur Sahib Corridor) के फिर से खुलने पर पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (Pakistan PM Imran Khan) के प्रयासों से यह संभव हुआ है. सिद्धू ने ये भी कहा कि मेरा निवेदन है कि अगर आप पंजाब की जिंदगी बदलना चाहते हैं तो हमें सीमाएं खोल देने चाहिए (सीमापार व्यापार के लिए). 

गुरदासपुर में मीडिया को संबोधित करते हुए सिद्धू ने कहा कि हमें मुंद्रा बंदरगाह से क्यों जाना चाहिए, जो करीब 2100 किलोमीटर है? यहां से क्यों नहीं, जहां यह केवल 21 किलोमीटर (पाकिस्तान से) है.

वहीं दूसरी ओर पंजाब के मंत्री परगट सिंह नवजोत सिंह सिद्धू की पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को अपना बड़ा भाई कहने की कथित टिप्पणी पर कहा है कि जब पीएम मोदी (पाकिस्तान) जाते हैं तो वह देश प्रेमी होते हैं, जब सिद्धू जाते हैं, तो वे देशद्रोही होते हैं क्या मैं आपको भाई नहीं कह सकता,  हम गुरु नानक देव के दर्शन का पालन करते हैं.

वहीं पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीन कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की घोषणा को सही दिशा में उठाया गया कदम करार दिया. उन्होंने यह भी कहा, किसानों के बलिदान का लाभ मिला है. सिद्धू ने कहा, काले कानून को निरस्त किया जाना सही दिशा में उठाया गया एक कदम है, किसान मोर्चा के सत्याग्रह को ऐतिहासिक सफलता मिली है, आपके बलिदान का लाभ मिला है, पंजाब में कृषि क्षेत्र के पुनरूद्धार की रूपरेखा पंजाब सरकार की शीर्ष प्राथमिकता होनी चाहिए…बधाई .

इससे पूर्व आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने के निर्णय की घोषणा करते हुए कहा कि संसद के आगामी सत्र में इसके लिए समुचित विधायी उपाय किए जाएंगे. सैकड़ों किसान दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर इन तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करवाने की मांग पर नंवबर 2020 से धरना दिये हुए बैठे थे.