जनवरी के आखिरी सप्ताह के दूसरे कारोबारी दिन मंगलवार को भी शेयर बाजार गिरावट के साथ खुले। बीएसई का 30 स्टॉक्स पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 332 अंकों की गिरावट के साथ 57158 के स्तर पर खुला और खुलते ही यह 857 अंक नीचे 5663 पर आ गया। वहीं,  निफ्टी ने 17001 के स्तर से आज दिन के कारोबार की शुरुआत की और शुरुआती कारोबार में ही 250 अंक टूटकर 16898 पर आ गया। चंद मिनट बाद ही सेंसेक्स 1032.91 अंक लुढ़क कर 56,458.60  के स्तर पर आ गया।

शेयर बाजारों में गिरावट से पांच दिन में निवेशकों के 19.50 लाख करोड़ रुपये ''डूबे''

शेयर बाजारों में सोमवार को लगातार पांचवें कारोबारी सत्र में गिरावट का सिलसिला जारी रहा। भारी बिकवाली के बीच पांच दिन में निवेशकों की 19,50,288.05 करोड़ रुपये की पूंजी डूबी है। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,545.67 अंक या 2.62 प्रतिशत के नुकसान से 57,491.51 अंक पर आ गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 468.05 अंक या 2.66 प्रतिशत टूटकर 17,149.10 अंक पर बंद हुआ। यह शेयर बाजारों में दो माह में किसी एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है।

पिछले पांच सत्रों में बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 3,817.4 अंक या 6.22 प्रतिशत टूट चुका है। पांच दिन से जारी बिकवाली के सिलसिले के बीच बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 19,50,288.05 करोड़ रुपये घटकर 2,60,52,149.66 करोड़ रुपये पर आ गया है। अकेले सोमवार को ही बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 9,13,651.88 करोड़ रुपये घटा है। दिलचस्प यह है कि 17 जनवरी को सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 280 करोड़ रुपये के रिकॉर्ड उच्चस्तर पर पहुंचा था।

ड्रीमफॉक्स ने आईपीओ दस्तावेज जमा कराए

ड्रीमफॉक्स सर्विसेज ने बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं। आईपीओ की मंजूरी के लिए पेश किए गए मसौदा प्रस्ताव डीआरएचपी के अनुसार, हवाईअड्डा सेवा एग्रिगेटर मंच का आईपीओ पूर्ण रूप से बिक्री पेशकश (ओएफएस) के रूप में होगा। इसके तहत प्रवर्तक लिबराथा पीटर कलात, दिनेश नागपाल और मुकेश यादव के पास मौजूद 2,18,14,200 इक्विटी शेयरों की पेशकश की जाएगी।

यह सार्वजनिक निर्गम शेयरों की पेशकश के बाद कंपनी की 41.75 प्रतिशत इक्विटी शेयर पूंजी के बराबर होगा। ड्रीमफॉक्स अपने प्रौद्योगिकी आधारित मंच के जरिये यात्रियों के लिए हवाईअड्डे के अनुभव को बेहतर बनाती है। यह उपभोक्ताओं को हवाईअड्डों से जुड़ी सुविधाओं मसलन लॉउंज, खाने-पीने के सामान, स्पा, होटल और बैगेज हस्तांतरण सेवाओं तक पहुंच उपलब्ध कराती है।