भारतीय शेयर मार्केट के बिगबुल कहे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला  का 14 अगस्त 2022 को मुंबई में 62 वर्ष की आयु में निधन हो गया। दिल का दौरा पड़ने के बाद सुबह करीब 6.45 बजे मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। झुनझुनवाला की तबीयत पिछले कुछ दिनों से ठीक नहीं थी और आज उन्होंने मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। राकेश झुनझुनवाला का जन्म 5 जुलाई 1960 को हैदराबाद में हुआ था। उनके पिता राधेश्यामजी झुनझुनवाला मुंबई में एक आयकर अधिकारी के रूप में काम करते थे और माता उर्मिला झुनझुनवाला हाउस वाइफ थीं। उनकी दो बहने सुधा गुप्ता और नीना संघरिया व एक बड़ा भाई राजेश झुनझुन वाला हैं, जो कि पेशे से एक चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं।

ये भी पढ़ेंः मोनालिसा ने हॉट अदाओं से लगा दी पानी में आग, स्वीमिंग पूल में बोल्ड लुक से मचाया 'तहलका'

Rakesh Jhunjhunwala ने साल 1985 में मुंबई में स्थित सिडेनहैम कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स से बी.कॉम किया था। इसके अलावा इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टड अकाउंट ऑफ इंडिया से सीए किया था। सीए की पढ़ाई करने के बाद झुनझुनवाला ने 1985 में 5,000 के साथ निवेश करना शुरू किया, जब बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स 150 पर था, यह अब 59,000 से अधिक पर कारोबार कर रहा है। वहीं उनकी कुल संपत्ति लगभग 5.8 बिलियन डॉलर बताई गई जाती है। 

फोर्ब्स की 2021 की सूची के अनुसार वह भारत के 36वें सबसे अमीर अरबपति थे। हाल ही में उनकी एयरलाइन अकासा की शुरूआत हुई थी। कुल मिलाकर झुंझुवाला का तीन दर्जन से ज्यादा कंपनियों में निवेश था। टाइटन, स्टार हेल्थ, टाटा मोटर्स और मेट्रो ब्रांड्स उनकी कुछ सबसे बड़ी होल्डिंग्स थीं। वह हंगामा मीडिया और एप्टेक के अध्यक्ष भी थे।

ये भी पढ़ेंः ‘लाल सिंह चड्ढा’ को ले डूबेगी आमिर खान की फिल्म PK, चलते शो से लोगों को निकाला गया बाहर, जमकर हुआ प्रदर्शन

राकेश झुनझुनवाला के इन्वेस्टमेंट मंत्र

"कोई भी मौसम, मृत्यु, बाजार और महिलाओं के बारे में भविष्यवाणी नहीं कर सकता है। बाजार एक महिला की तरह है, हमेशा आज्ञाकारी, रहस्यमय, अनिश्चित और अस्थिर। आप वास्तव में कभी भी एक महिला पर हावी नहीं हो सकते हैं और इसी तरह आप बाजार पर हावी नहीं हो सकते।"

"हमेशा प्रवाह के खिलाफ जाओ। तब खरीदें जब दूसरे बेच रहे हों और जब दूसरे खरीद रहे हों तब बेचें।"

"आप जुनून के बिना सफल नहीं होते।"

"बाजार का सम्मान करें। एक खुले दिमाग है। जानिए क्या दांव लगाना है। जानिए कब नुकसान उठाना है। जिम्मेदार रहना।"

"शेयर बाजार हमेशा सही होते हैं। कभी भी बाजार का समय नहीं।"