बॉलीवुड की देशी गर्ल व असम पर्यटन की ब्रांड एंबेसडर प्रियंका चोपड़ा उन चुनिंदा अभिनेत्रियों में शुमार की जाती है जिन्होंने अभिनेत्रियों के महज शोपीस के तौर पर इस्तेमाल किये जाने की परंपरागत सोच को न सिर्फ बदला बल्कि बॉलीवुड को अंतराष्ट्रीय स्तर पर भी विशेष पहचान दिलाई। 

18 जुलाई 1982 को झारखंड के जमशेदपुर में जन्मी प्रियंका चोपड़ा ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा बरेली से पूरी की। बाद में उन्होंने लखनऊ और मुंबई से अपनी आगे की पढ़ाई पूरी की। इस बीच उनका रूझान मॉडलिंग इंडस्ट्री की ओर हो गया और वह मॉडल के रूप में काम करने लगीं। 

वर्ष 2000 में प्रियंका चोपड़ा ने मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और दूसरे स्थान पर रहीं। बाद में उन्हें मिस इंडिया वल्र्ड के खिताब से नवाजा गया। मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में भारतीय सुंदरता का परचम पूरी दुनिया में लहराते हुये रीता फारिया के बाद मिस वर्ल्ड का खिताब जीतने वाली वह पांचवीं भारतीय सुंदरी बनीं। 

प्रियंका चोपड़ा ने अपने सिने करियर की शुरुआत वर्ष 2002 में तमिल फिल्म से की। इस फिल्म को व्यावसायिक सफलता तो नहीं मिली लेकिन अपने दमदार अभिनय से उन्होंने समीक्षकों का दिल जीत लिया। वर्ष 2003 में उन्होंने बॉलीवुड में भी कदम रखा और सन्नी देओल और प्रीति जिंटा के साथ 'द हीरो लव स्टोरी ऑफ द स्पाई' में काम किया। यह फिल्म टिकट खिड़की पर सफल साबित हुयी और उनके अभिनय को दर्शको के साथ ही समीक्षकों ने भी काफी पसंद किया। 

वर्ष 2003 में ही राज कंवर फिल्म 'अंदाज' प्रियंका चोपड़ा के सिने करियर की महत्वपूर्ण फिल्म साबित हुयी। फिल्म में उनके नायक की भूमिका अक्षय कुमार थे। बेहतरीन गीत-संगीत, अभिनय और दमदार पटकथा से फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी। इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये प्रियंका चोपड़ा सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिये नामांकित की गयी। 

इसके साथ ही उन्हें नवोदित अभिनेत्री का फिल्म फेयर पुरस्कार भी प्राप्त हुआ। वर्ष 2004 में प्रियंका चोपड़ा की एक और सुपरहिट फिल्म 'मुझसे शादी करोगी' प्रदर्शित हुयी। डेविड धवन निर्देशित इस फिल्म में सलमान खा और अक्षय कुमार जैसे मंझे हुये सितारे की मौजूदगी में भी उन्होंने फिल्म में युवा फैशन डिजायनर के रूप में अपने किरदार को रूपहले पर्दे पर जीवंत करके फिल्म को सुपरहिट बना दिया।

वर्ष 2004 में ही प्रियंका चोपड़ा को प्रसिद्ध निर्माता निर्देशक सुभाष घई की फिल्म 'ऐतराज' में काम करने का अवसर मिला। वह फिल्म भी सुपरहिट फिल्म साबित हुयी। इस फिल्म में प्रियका चोपड़ा ने एक ऐसी युवती सोनिया का किरदार निभाया जो व्यावसायिक तौर पर सफल होने के लिये अपने प्रेमी को छोड़ अपनी उम्र से काफी बड़े व्यक्ति से शादी करने से भी नहीं हिचकती है। 'ऐतराज' में प्रियंका चोपड़ा का किरदार ग्रे शेडस लिये हुये थी। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वह सर्वश्रेष्ठ खलनायक के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित की गयी। यह फिल्म इंडस्ट्री के इतिहास का दूसरा मौका था जब किसी अभिनेत्री को सर्वश्रेष्ठ खलनायक का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया था।

इससे पहले अभिनेत्री काजोल को फिल्म गुप्त के लिये यह अवार्ड दिया गया था। वर्ष 2006 प्रियंका चोपड़ा के सिने करियर के लिये अहम वर्ष साबित हुआ। इस वर्ष उनकी फिल्म 'डॉन' प्रदर्शित हुयी। सत्तर के दशक में बनी सुपरहिट फिल्म डॉन के इस रीमेक में प्रियका चोपड़ा ने जीनत अमान वाली भूमिका निभाई। इसी वर्ष उनकी क्रिश जैसी सुपरहिट फिल्म भी प्रदर्शित हुयी जिसमें उन्होंने ऋतिक रौशन की प्रेयसी की भूमिका निभाई। 

वर्ष 2008 में प्रियंका चोपड़ा की एक और अहम फिल्म फैशन प्रदर्शित हुयी। फैशन की दुनिया को दर्शकों से रूबरू कराती मधुर भंडारकर निर्देशित इस फिल्म में प्रियका चोपड़ा एक उभरती मॉडल की भूमिका में दिखाई दी। फिल्म में अपने सशक्त अभिनय से उन्होंने दर्शकों का दिल जीत लिया और सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार के साथ ही फिल्म फेयर पुरस्कार से भी सम्मानित की गयी। 

वर्ष 2009 में प्रदर्शित फिल्म 'व्हाटस योर राशि' प्रियंका चोपड़ा की महत्वपूर्ण फिल्म में शुमार की जाती है। देखा जाये तो फिल्मों में किसी अभिनेता या अभिनेत्री द्वारा का एक फिल्म में दोहरी या तिहरी भूमिका निभाना बड़ी बात समझी जाती है लेकिन प्रियंका चोपड़ा ने फिल्म में एक या दो नहीं बल्कि 12 अलग अलग भूमिका निभाकर दर्शकों को रोमांचित कर दिया। प्रियंका चोपड़ा अपने एक दशक लंबे सिने करियर में अब तक 40 फिल्मों में अभिनय कर चुकी है। प्रियंका की वर्ष 2016 में फिल्म जय गंगाजल प्रदर्शित हुयी। प्रियंका चोपड़ा ने हॉलीवुड फिल्म बेवाच में भी काम किया है। प्रियंका की आने वाली फिल्मों में भारत प्रमुख है जिसमे उनके अपोजिट सलमान खान की मुख्य भूमिका है।

प्रियंका ने हाल ही में एक मशहूर इंटरनेशनल मैगज़ीन को दिए इंटरव्यू में रंगभेद की बात कबूली। प्रियंका का कहना हैं कि उन्होंने पिछले साल अपने स्किन के कलर के कारण कई हॉलीवुड फ़िल्में खोई हैं जिसकी वजह से प्रियंका काफी निराश भी हैं। दरअसल एक बार प्रियंका के मैनेजर के पास किसी स्टूडियो से कॉल आया था जिसमे उन्होंने कहा था कि प्रियंका की फिजिकैलिटी सही नहीं हैं जिसके कारण उन्हें फिल्म में रोल नहीं मिला पाया। प्रियंका को इसका मतलब समझ नहीं आया तब उन्हें मैनेजर ने समझाया कि फिल्म मेकर्स को उनकी फिल्म के लिए ब्राउन चेहरा नहीं चाहिए।