पेट्रोल और डीजल की बढ़ती (Rising prices of petrol and diesel) कीमतों ने आम आदमी की परेशानी बढ़ा दी है। देश के अधिकतर शहरों में पेट्रोल 100 रुपए प्रति लीटर के स्तर को पार कर लिया है। वहीं, कई शहरों में डीजल के भाव भी 100 रुपए से ज्यादा हो गए हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का ये सिलसिला आगे भी जारी रहने की आशंका है।

क्यों है आशंका: दरअसल, मार्केट स्टडी और साख निर्धारण करने वाली कंपनी गोल्डमैन सैक्स का अनुमान है कि ब्रेंट कच्चे तेल की कीमतें (Brent crude oil prices will reach $110 per barrel by next year) अगले साल तक 110 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच जाएंगी। ये मौजूदा स्तर 85 डॉलर प्रति बैरल से 30 फीसदी अधिक है। अनुमान के मुताबिक कच्चे तेल की कीमत 147 डॉलर प्रति बैरल के ऑल टाइम हाई लेवल को भी टच कर सकती है।

कच्चे तेल की कीमतों का ये लेवल साल 2008 में था। ये वो वक्त था जब दुनिया आर्थिक मंदी की चपेट में थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर ऐसा होता है तो पेट्रोल की कीमत 150 रुपए price of petrol can go up to Rs 150)  तक जा सकती है। वहीं, डीजल की बात करें तो भाव 140 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच सकता है। हालांकि, गोल्डमैन सैक्स का ये अनुमान अगले साल के लिए है।