विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द कश्मीर फाइल्स बॉक्स ऑफिस पर अभी भी अच्छा प्रदर्शन कर रही है। फिल्म ने 200 करोड़ का कलेक्शन कर लिया है। फिल्म 90 के दशक में कश्मीरी पंडितों के पलायन और नरसंहार पर बनी है। दर्शकों की ओर से फिल्म को अच्छी प्रतिक्रिया तो मिली ही है क्रिटिक्स ने भी फिल्म को सराहा है। वहीं अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों के नेता भी इस पर अपना रिएक्शन दे रहे हैं। 

यह भी पढ़े : मार्केट में आते ही धूम मचा देगा वीवो का ये एंड्रॉइड टैबलेट, जानिए Vivo Pad में क्या होगा खास

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने हाल ही में कहा था कि यह त्रासदी उनके शासन में नहीं हुआ। अगर वह नरसंहार के लिए जिम्मेदार पाए जाते हैं तो तो देश में कहीं भी फांसी पर लटकने के लिए तैयार हैं। अब इस पर द कश्मीर फाइल्स की अभिनेत्री पल्लवी जोशी ने जवाब दिया है।

यह भी पढ़े : देवगुरु बृहस्पति आज से होंगे उदित, इन राशि वालों के अच्छे दिन भी शुरू हो जाएंगे, भाग्योदय होने जा रहा


पल्वली जोशी ने कहा कि फिल्म गहन रिसर्च के बाद बनाई गई है। उनके पास सबूत के वीडियो भी हैं। इंडिया टुडे से पल्लवी जोशी ने कहा, ‘सही कहूं, तो राजनीति मेरा क्षेत्र नहीं है इसलिए मुझे नहीं पता कि नेताओं को कैसे जवाब दिया जाए लेकिन हमने जो किया है उसके लिए 4 साल तक रिसर्च की। मेरे पास पुलिस से लेकर प्रशासन, कश्मीरी पंडित और उस वक्त के सरकारी अधिकारियों के बयान के वीडियो हैं। हर एक घटना जो हमने फिल्म में दिखाई है उसका सबूत वीडियो के रूप में हमारे पास है। मुझे नहीं लगता 700 लोग एक साथ झूठ बोल सकते हैं।‘

यह भी पढ़े : दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही योगी आदित्यनाथ ने गरीबों के लिए कर दिया बड़ा काम , जानिए

पल्लवी जोशी ने आगे कहा कि फारुक अब्दुल्ला ने कश्मीरी पंडितों की निर्मम हत्या से दो दिन पहले इस्तीफा दिया था और वे लंदन चले गए। जगमोहन गर्वनर के रूप में अप्वॉइंट किए गए थे लेकिन वे खराब मौसम की वजह से पहुंच नहीं पाए थे। वे दो-तीन दिन के लिए जम्मू में रुके थे।