नई दिल्ली। गूगल ने अब एक ऐसा फैसला लिया है जिसकी वजह से यूजर्स का एंड्रॉयड स्मार्टफोन  का यूजर एक्सपीरियंस पूरी तरह से बदल जाएगा। गौरतलब है कि भारत गूगल के लिए बहुत बड़ा मार्केट है। यहां पर लगभग 97 प्रतिशत स्मार्टफोन गूगल के एंड्रॉयउ ओएस पर आधारित हैं। ऐसे में अब गूगल की ओर से भारतीय यूजर्स के लिए बड़ा और शानदार फैसला लिया गया है। गूगल के इस फैसले से एंड्रॉइड स्मार्टफोन यूजर्स की मौज हो गई है। आपको बता दें कि अभी तक एंड्रॉयड स्मार्टफोन लेने पर उसमें ढ़ेर सारे गूगल ऐप्स पहले से ही दिए जाते थे। इन एप्स को यूजर चाहकर भी फोन से नहीं हटा सकते थे। लेकिन अब गूगल ने यह कंडीशन हटा दी है भारतीय स्मार्टफोन मैन्युफैक्चर्स को अपनी मर्जी के ऐप्स इंस्टॉल करने की छूट दी है। 

गूगल ने डूडल के जरिए मनाया बबल टी की लोकप्रियता का जश्न, जानें इसका इतिहास और फायदे

स्मार्टफोन से रिमूव कर सकेंगे गूगल ऐप्स

आपको बता दें कि इसके तहत अब यूजर्स अपनी मर्जी के ऐप्स को स्मार्टफोन में इंस्टॉल कर सकेंगे। इतना ही नहीं बल्कि आप अपनी मर्जी का सर्च इंजन भी इस्तेमाल कर सकते हैं। गौरतलब है कि अभी तक गूगल की यह शर्त होती थी कि अगर स्मार्टफोन कंपनियां एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम का यूज करती है, तो उन्हें गूगल ऐप्स जैसे Google Chrome, Gmail, Google Drive, Google Map, Google Meet का यूज करना होता था।

महंगी हो चुकी है यामाहा की ये 5 खूबसूरत बाइक्स, जानिए इनकी खूबियां और नई कीमतें

गूगल ने इसलिए लिया बड़ा फैसला

गौरतलब है कि हाल ही में भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग यानी CCI ने गूगल के खिलाफ फैसला दिया था। इसके तहत गूगल पर भारत में अपनी मर्जी से कारोबार करने का आरोप लगाया गया था। इतना ही नहीं बल्कि भारत की तरफ से गूगल पर 1300 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था। गूगल इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट भी गया था लेकिन वहां भी उसें राहत नहीं मिली। CCI के फैसले के बाद गूगल ने अपना निर्णय बदलते हुए पुराने नियम और शर्तों को बदला है।