नई दिल्ली। वैलेंटाइन वीक में प्यार में अपने पार्टनर को किस करना सामान्य सी बात है. अपने रिश्ते और प्यार को जाहिर करने के लिए पार्टनर अक्सर एक दूसरे को किस करते हैं. हर साल वैलेनटाइन डे से पहले किस डे सेलिब्रेट किया जाता है. प्रेम में चुम्बन सुख का अहसास कराता है लेकिन इस बात के भी वैज्ञानिक प्रमाण हैं कि किस करने से कई खतरनाक संक्रमण और बीमारियों का खतरा बढ़ता है. तो आइए जानते हैं इसके बारे में...

यह भी पढ़ें : डेट पर जाने से पहले ऐसे हटाएं स्किन की गंदगी, चेहरा देखता रह जाएगा पार्टनर

HSV-1 और HSV-2 वायरस

आमतौर पर इसको हर्पीस कहा जाता है कि जो दो तरह का होता है जैसे— HSV-1 और HSV-2. HSV-1 वायरस किस के जरिए आसानी से फैल जाता है. 50 साल से कम उम्र के 67 प्रतिशत लोगों में यह बीमारी होने की संभावना ज्यादा रहती है. मुंह या गुप्तांग में लाल या सफेद रंग के छाले इसके सबसे प्रमुख लक्षण हैं. यह संक्रमण कई बार बिना लक्षणों के भी इंसान को घेर लेता है. वहीं, दूसरी तरफ हर्पीस का दूसरा प्रकार HSV-2 है जिसको जेनिटल हर्पीस भी कहा जाता है हैं. वैसे तो यह मुख्य रूप से शारीरिक संबंध बनाने से फैलता है, लेकिन इसके किस के जरिए फैलने की संभावनाएं भी होती हैं. HSV-2 के लक्षण भी HSV-1 की तरह ही होते हैं. अगर इंसान का इम्यून सिस्टम अच्छा न हो तो ये गंभीर रूप ले सकता है. इसलिए इस मामले में लापरवाही बिल्कुल नहीं बरतें.

साइटोमेगालोवायरस

साइटोमेगालोवायरस एक ऐसा इनफेक्शन है जो सलीवा या लार की वजह से फैलता है. इसके अलावा, यह वायरस यूरिन, ब्लड, सीमेन और ब्रेस्ट मिल्क के जरिए भी आसानी से फैल सकता है. यह अक्सर मुंह या गुप्तांग के संपर्क में आने से भी फैलता है. इसलिए इसे एक सेक्शुअल ट्रांसमिटेड इंफेक्शल कहा जाता है. इसके प्रमुख लक्षण थकावट, गले में खराश, बुखार और बदन दर्द आदि हैं.

सिफलिस

यह एक बैक्टीरियल इंफेक्शन है जो किस या सैक्शुअल एक्टिविटीज की वजह से हो सकता है. सिफलिस के संपर्क में आने से मुंह के अंदर घाव या छाले जैसी समस्याएं होती हैं. हालांकि इस इंफेक्शन को एंटी-बायोटिक्स दवाओं से कंट्रोल किया जा सकता है. यदि इसका समय पर इलाज न कराया जाए तो यह बेहद घातक साबित हो सकती है. बुखार, सिरदर्द, गले में खराश, बदन दर्द, थकावट, धुंधला दिखाई देना, दिल से संबंधित परेशानी, ब्रेन डैमेज या मेमोरी लॉस इसके कुछ प्रमुख लक्षण माने जाते हैं.

मैनिंजाइटिस

किस करने की वजह से लोग मैनिंजाइटिस का भी शिकार हो सकते हैं. यह बैक्टीरियल इनफेक्शन आमतौर पर किस करने से फैलता है. बुखार, सिरदर्द या गर्दन में जकड़न इसके कुछ प्रमुख लक्षण बताए गए हैं. शरीर में इस तरह के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

यह भी पढ़ें : लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में पार्टनर के साथ ऐसे मनाएं Valentine Day, बढ़ेगा प्यार

रेस्पिरेटरी वायरस

रेस्पिरेटरी सिस्टम से जुड़ी समस्या के लिए खसरा, कोल्ड या फ्लू को ही जिम्मेदार माना जाता है. यह वायरस संक्रमित इंसान के साथ एक कमरे में रहने या उसकी चीजों को इस्तेमाल करने से भी फैल सकता है. हालांकि किस करने से इसके फैलने की संभवनाएं बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं.