कपिल शर्मा (Kapil Sharma) अपने ह्यूमरस अंदाज से लोगों के चेहरे पर जहां मुस्कान लाकर तारीफें बंटोरते रहते हैं। वहीं, वह दूसरों की मदद भी करते हुए भी दिखाई देते हैं। ऐसे में उनके द्वारा की गई एक मदद के लिए फिर से PETA यानी पीपल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स ने शुक्रिया अदा किया है। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं, जब PETA उनको थैंक यू कह रहा है। पहले भी कई मौके आए, जब उनके काम की तारीफ की गई।

दरसअल, PETA ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट शेयर करते हुए एक नोट लिखा, 'कपिल शर्मा हाथी सुंदर की मदद करने के लिए आपको एक बार फिर से थैंक्यू। हमारे पास दूसरे हाथी के बारे में एक अच्छी खबर है। PETA इंडिया के प्रयासों के बाद, देश की 'सबसे पतली हाथी' लक्ष्मी को कोर्ट ने दुर्व्यवहार से बचाने के लिए हरी झंडी दिखा दी है।' इस पर कपिल भी जवाब देते हैं। लिखते हैं, ' यह तो बहुत बढ़िया खबर है। हमें आप लोगों पर गर्व है। भगवान आप पर यूं ही कृपा बनाए रखे।'

बता दें कि हाथी सुंदर को साल 2007 में जब वह सिर्फ बच्चा था, तो उसे कोल्हापुर में एक मंदिर में दे दिया गया था। वहां पर उसके पैर में जंजीर बांधकर रखा गया। उसके साथ बुरा बर्ताव किया गया। सुंदर का हैंडलर उसे डंडों से मारता-पीटता था। जब पेटा इंडिया को उसकी दुर्दशा के बारे में पता चला, तब समाने आया कि सुंदर की एक आंख में चोट आई है, कान में एक छेद हो गया है और पूरे शरीर पर चोट के निशान हैं। इसके बाद सुंदर की रिहाई के लिए कैम्पेन चलाया गया। पेटा ने मांग की सुंदर को जंगल में छोड़ दिया जाए लेकिन ऐसा करने से उसके हैंडलर ने मना कर दिया। 2013 में सुंदर की बेरहमी से पिटाई का वीडियो भी सामने आया, जिसके बाद देश-विदेश के लोगों ने उसको जंगल में छोड़ दिया जाए। मामला कोर्ट भी गया, जहां उसे बचाने के लिए लड़ाई लड़ी गई। और अंत में 5 जून 2014 को, सुंदर को बन्नेरघट्टा बायोलॉजिकल पार्क में लाया गया, जहां उसकी देखभाल की गई। उसका इलाज किया गया।

पिछले साल भी केरल में जानवरों से गलत बर्ताव करने के मामले समाने आए थे। किसी हाथी के मुंह में पटाखे रख कर उनकी हत्या की गई थी, तो कभी गाय और कुत्तों के साथ ऐसी बरबर्ता की गई। ऐसे में कपिल ने Change.org पर 'जस्टिस फॉर अवर वॉयसलेस सोल' नाम से एक याचिका शुरू की थी। ट्वीट कर उन्होंने कानून और न्याय मंत्रालय को टैग किया था और अपने फैंस से याचिका पर साइन करने की अपील की थी।

बता दें कि बेघर कुत्तों को गोद लेने के लिए कपिल ने लोगों से अपील की थी। इस पर लगकर उन्होंने काम भी किया था। इसी लगन को देखते हुए 2015 में कपिल को PETA के 'पर्सन ऑफ द ईयर अवार्ड' से सम्मानित किया गया था। तब उन्होंने कहा था कि वह खुश हैं कि उन्हे जानवरों की मदद करने के लिए पहचाना जा रहा है। 'मुझे लोगों को हंसाना अच्छा लगता है लेकिन हम सभी को यह जानना चाहिए कि कुत्ते और बिल्ली का बेघर होना कोई हंसी की बात नहीं है।' जानकारी के मुताबिक, कपिल ने खुद जंजीर नाम के कुत्ते को अडॉप्ट किया था।

2013 में भी कपिल ने सेट में आग लगने के बाद 'कॉमेडी नाइट्स विद कपिल' के सेट से कुत्ते के बच्चों को बचाया था। PETA इंडिया के सचिन बंगेरा ने इस खबर की पुष्टि करते हुए ट्वीट किया था, 'कॉमेडी नाइट्स विद कपिल के सेट पर कपिल शर्मा द्वारा बचाए गए ये पिल्ले अब सुरक्षित हैं। PETA की ओर से धन्यवाद।"