रूस और अमरीका के बीच यूक्रेन को लेकर तनाव बढ़ता ही जा रहा है। इस बीच अमरीकी राष्ट्रपति बाइडन सीधे तौर पर कह दिया कि अमरीका नाटो क्षेत्र की एक-एक इंच जमीन की रक्षा के लिए पूरी तरह तैयार है। दरअसल राष्ट्रपति पुतिन के चार यूक्रेनी शहरों को रूस में शामिल करने से ये विवाद अब अपने चरम पर पहुंच गया है। 

ये भी पढ़ेंः मौसम विभाग का बड़ा अपडेटः देश के इन राज्यों में वापसी कर रहा है मॉनसून, होगी झमाझम बारिश


पुतिन को जवाब देते हुए बाइडन ने कहा कि अमेरिका अपने नाटो सहयोगियों के साथ नाटो क्षेत्र की एक-एक इंच जमीन की रक्षा के लिए पूरी तरह तैयार है, इसलिए पुतिन... मैं जो कह रहा हूं उसे हल्के में ना लें। अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि मैं अपने सहयोगियों के साथ संपर्क में हूं। साथ ही आज नए प्रतिबंधों की घोषणा करता हूं। यूक्रेन युद्ध के बाद से अमेरिका रूस पर कई कड़े प्रतिबंध लगा चुका है। 

ये भी पढ़ेंः कूनो नेशनल पार्क से अच्छी खबर, नामीबिया से आई फीमेल चीता हुई गर्भवती, देश में बढ़ेगा चीतों का कुनबा


आपको बता दें कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार शाम (भारतीय समय अनुसार) यूक्रेन के कब्जाए गए चारों इलाकों रूस का औपचारिक हिस्सा घोषित कर दिया है। क्रेमलिन में आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने डोनेट्स्क, लुहान्स्क, जापोरिजिया, खेरसॉन को अपने देश में शामिल करने के आधिकारिक दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए। कार्यक्रम को संबोधित करने हुए पुतिन ने जमकर पश्चिमी देशों पर निशाना साधा था। पुतिन ने पश्चिमी देशों पर रूस को कमजोर और विघटित करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मध्य युग में पश्चिम ने अपने औपनिवेशिक शासन की शुरुआत की। अमरीका के लोगों का नरसंहार, भारत और अफ्रीका की लूट, चीन के खिलाफ युद्ध, अफीम युद्ध। पश्चिम ने पूरे देश को ड्रग्स पर निर्भर बनाकर पूरे समूहों का नरसंहार कर दिया। वे जानवरों की तरह लोगों का शिकार करते थे।