कभी कभी किस्मत ऐसी मेहरबान हो जाती है कि यकीन होता। पूरा जिंदगी एक नर्क जैसी रहती है लेकिन जब ये बरसती है तो भाग्य खोल देती है। ऐसा ही कुछ एक कार ड्राइवर के साथ हुआ जिसकी किस्मत ऐसी चमकी कि जीवन को स्वर्ग बन गया। इसकी  किस्मत को Dream-11 ने बदली है। जैसे कि हम जानते हैं कि IPL की धूम मची हुई है।

यह भी पढ़ें- फोरम ने प्रधानमंत्री से राजमार्ग के किनारे रेल लाइन शिफ्ट करने का किया अनुरोध

एक क्रिकेट प्रेमियों में से एक हैं बिहार के सारण जिले के रहने वाले रमेश कुमार। पेश से कार ड्राइवर रमेश ने DREAM-11 में IPL टीम चुनकर 2 करोड़ रुपये जीते हैं। DREAM-11 पर रमेश द्वारा चुनी गई IPL टीम देशभर में नंबर वन रही और उन्‍होंने 2 करोड़ बतौर पुरस्‍कार जीता। ड्रीम 11 पर टीम बनाकर करोड़पति बनने वाले रमेश के घर में खुशियों का आलम है। किसी को यकीन नहीं हो रहा है कि उन्‍हें इतनी बड़ी राशि मिली है, जिसके बारे में उन्‍होंने सपने में भी नहीं सोचा था।

भारत में क्रिकेट के दीवानों की कमी नहीं है. करोड़ों की संख्‍या में लोग क्रिकेट देखते हें, लेकिन इनमें से कुछ भाग्‍यशाली क्रिकेट प्रेमी धनपति भी बन जाते हैं। सारण निवासी रमेश कुमार भी उन्‍हें खुशकिस्‍मतों में से एक हैं। जानकारी के अनुसार, रमेश कुमार सारण जिले के अमनौर प्रखंड के रसूलपुर गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता मेहनत-मजदूरी करते हैं।
खुद रमेश पश्चिम बंगाल में कार चलाकर दो पैसे कमाता है, ताकि घर की गाड़ी चलती रहे। अब कार चलाकर पेट पालने वाले वही रमेश रातोंरात करोड़पति बन गए हैं। अमनौर थाना क्षेत्र के कज रसूलपुर निवासी जगदीश महतो के पुत्र रमेश कुमार ने DREAM-11 पर ऐसी अईपीएल टीम बनाई जो देशभर में नंबर वन रही। रमेश एक सप्‍ताह पहले ही पश्चिम बंगाल से अपने घर आए हैं।



DREAM-11 पर वर्षों से बना रहे टीम


रमेश ने बताया कि वह DREAM-11 पर वर्षों से टीम बनाया करते थे। विगत मंगलवार को उन्‍होंने पंजाब किंग्‍स और लखनऊ सुपर जाइंट्स के बीच खेले गए मैच से पहले आईपीएल की एक टीम बनाई थी। उन्‍होंने इस टीम में कगीसो रबाडा को कैप्टन और शिखर धवन को उप कप्‍तान बनाया था। इस मैच में रबाडा ने 3 विकेट लिए थे, जबकि शिखर ने बेहतरीन पारी खेली थी।

मैच खत्‍म होने के बाद रमेश द्वारा बनाई गई टीम को सबसे ज्‍यादा अंक मिला और उनकी IPL टीम देश में नंबर एक रही। इसके बाद रमेश को 2 करोड़ रुपये जीतने का मैसेज मिला। इससे उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। इस