कोरोना के नये वैरियंट ओमिक्रॉन (New variant Omicron of Corona) के लगातार बढ़ते मामलों को देखते सरकार बेहद सतर्क हो गयी है। इसी को लेकर केन्द्र सरकार ने शुक्रवार एक नयी एडवायजरी जारी की है। इस एडवायजरी के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति को बुखार, थकान, सिरदर्द और गले में है खराश तो उसे तुरंत कोविड टेस्ट कराने (covid test ) की सलाह दी गयी है। 

केन्द्र सरकार ने इस बाबत राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। एडवायजरी में इस बात का साफ-साफ ज़िक्र है कि अगर किसी व्यक्ति को बुखार, सिरदर्द, गले में खराश, सांस लेने में तकलीफ, शरीर में दर्द, स्वाद या गंध चले जाना, थकान और दस्त से पीड़ित किसी भी व्यक्ति को Covid-19 का एक संदिग्ध केस माना जाना चाहिए और संक्रमण के लिए उसका टेस्ट तुरंत होना चाहिए।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को विभिन्न स्थानों पर चौबीसों घंटे चलने वाले रैपिड एंटीजन टेस्ट बूथ लगाने, मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ को शामिल करने और घरेलू टेस्टिंग किट के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए एक पत्र लिखा है।

पत्र में लिखा गया, "देश के कई हिस्सों में पॉजिटिविटी रेट में बढ़ोतरी के साथ-साथ Covid-19 मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। संदिग्ध रोगियों और उनके कॉन्टैक्ट का शुरुआती टेस्ट और उन्हें तेजी से आइसोलेट करना SARS-CoV-2 को फैलने से रोकने के प्रमुख उपायों में से एक है।" इसमें आगे लिखा, "पिछले अनुभव के आधार पर, यह देखा गया है कि अगर मामलों की संख्या एक निश्चित सीमा से ज्यादा हो जाती है, तो RTPCR-बेस्ड टेस्ट से डायग्नोसिस की पुष्टि करने में देरी होती है, क्योंकि इसके टर्नअराउंड समय लगभग 5-8 घंटे है।"

सरकार ने कहा, "अनुमानित नेशनल डेली मॉलिक्यूलर टेस्टिंग क्षमता प्रति दिन 20 लाख से ज्यादा है। सभी नागरिकों के लिए व्यापक परीक्षण और आसान पहुंच प्रदान करने के लिए पहचाने गए भौगोलिक क्षेत्रों में मल्टीपल रैपिड एंटीजन टेस्ट (RT) बूथ स्थापित किए जाने चाहिए और 24X7 एक्टिव रहने चाहिए।" उन्होंने कहा, "सिंप्टोमेटक लोगों के लिए सेल्फ टेस्ट और होम टेस्ट के इस्तेमाल को प्रोत्साहित किया जा सकता है। ऐसे सात होम टेस्टिंग किट को अब तक मंजूरी मिल चुकी है।"

सरकार ने ऐसे किसी भी लिक्षण वाले व्यक्ति को आइसोलेट करने और स्वास्थ्य मंत्रालय के होम आइसोलेशन गाइडलाइन का पालन करने के लिए कहा है, जब तक कि उनकी Covid-19 टेस्ट रिजल्ट नहीं आते। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि भारत में कोरोनोवायरस के ओमीक्रोन वेरिएंट के एक दिन में सबसे ज्यादा 309 नए मामल आए, जिससे देश में नए वेरिएंट के केस की संख्या 1,270 हो गई। इसके साथ ही Covid-19 के 16,764 नए केस आए और वायरल बीमारी के कारण 220 और मौतें हुईं। मंत्रालय के सुबह 8 बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, वायरस के ओमीक्रोन वेरिएंट से संक्रमित 1,270 मरीजों में से 374 या तो स्वस्थ हो गए हैं या पलायन कर गए हैं।

आपको बता दें कि अब तक ओमीक्रोन के मामले दर्ज करने वाले 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में से, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 450 केस आए हैं, इसके बाद लिस्ट में दिल्ली (320), केरल (109), और गुजरात (97) का नाम है।