पिछले 10  महीने से धरने पर बैठे पंजाब हरियाणा के किसान (The farmers of Punjab Haryana)  आज सड़कों पर उतर गए हैं. दोनों राज्यों के किसान धान (Paddy) खरीदी की तारीख बढ़ाए जाने से नाराज हैं. किसान संगठन आज हरियाणा और पंजाब में विरोध प्रदर्शन (Protesting in Haryana and Punjab)  कर रहे हैं.

हरियाणा के किसानों ने करनाल में सीएम मनोहर लाल खट्टर (CM Manohar Lal Khattar)  के आवास का घेराव किया है. बड़ी संख्या में किसान खट्टर के आवास के पास जमा हुए और धरने पर बैठ गए हैं. किसानों ने हरियाणा सरकार के सभी मंत्रियों और BJP सांसदों का भी घेराव करने का प्लान बनाया है है.

किसानों की नाराजगी की वजह केन्द्र सरकार (Central Government)  का वह फैसला है जिसमें हरियाणा और पंजाब सरकार से कहा गया है कि सितंबर में हुई भारी बारिश की वजह से धान खरीदी फिलहाल रोक दे. इस फैसले के मुताबिक भारी बारिश की वजह से धान में नमी है, इसलिए धान की खरीद 11 अक्टूबर से शुरू की जाए. हरियाणा में धान की खरीदी 25 सितंबर से शुरू होती है. वहीं पंजाब में धान की खरीदी 1 अक्टूबर से होती है. वहीं किसानों का कहना है धान खरीदी तत्काल शुरू की जाए.

किसानों का कहना है भारी बारिश (Heavy rains) की वजह से पहले ही उनकी फसलों को नुकसान हुआ है. ऐसे में केन्द्र सरकार का धान खरीदी की तारीख बढ़ाने से उनका नुकसान दोगुना हो सकता है.