दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Delhi Environment Minister Gopal Rai) ने मंगलवार को कहा कि सरकार ने 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' (Red Light On, Gaadi Of) शीर्षक वाला वाहन-विरोधी अभियान 15 दिन के लिए बढ़ा दिया है। यह अभियान पहले 18 नवंबर को समाप्त होने वाला था।

गोपाल राय ने कहा कि अभियान का दूसरा चरण, जिसके तहत लोगों से प्रदूषण के स्तर को (reduce pollution levels) कम करने के लिए प्रमुख चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल (switch off their engines while waiting at traffic signals) पर इंतजार करते हुए अपने इंजन बंद करने का आग्रह किया जाता है, यह 19 नवंबर से शुरू होगा और 3 दिसंबर तक जारी रहेगा।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में प्रदूषण पर चर्चा के लिए बुलाई गई बैठक के बारे में राय ने कहा कि दिल्ली सरकार ने संकट से निपटने के लिए वर्क फ्रॉम होम पॉलिसी, उद्योगों पर प्रतिबंध और निर्माण कार्य का सुझाव दिया है।

बैठक में पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अधिकारियों के अलावा अन्य सभी हितधारकों ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार भाग लिया।

इस बीच, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिन में पहले प्रदूषण पर एक उच्च स्तरीय बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को एनसीआर में प्रदूषण को रोकने के लिए नियोजित प्रयासों को लागू करने का निर्देश दिया, जिसमें लोगों को निजी वाहनों के बजाय सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना शामिल है।

मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में उनके हवाले से कहा गया, "किसानों से पराली न जलाने के लिए संपर्क किया जाना चाहिए।"