रूस और इंग्लैंड के साथ ही चीन में एक (covid-19 is once again wreaking havoc in China) बार फिर कोविड-19 कहर मचा रहा है।  गुरुवार को कोविड केसेज की वजह से अथॉरिटीज को स्‍कूलों को बंद करना पड़ गया।  सैंकड़ों फ्लाइट्स भी कैंसिल (Hundreds of flights have also been cancelled) कर दी गई हैं।  कोरोना नियमों (Corona rules ) में सख्ती कर दी गई है और संक्रमण फैलने (Spreading the infection) की आशंका में ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग शुरू कर दिया गया है।  गुरुवार तक चीन में 13 नए मामले सामने आ चुके हैं। 

चीन ने हमेशा से जीरो (China has always followed the zero covid policy.) कोविड नीति का पालन किया है।  इस वजह से उसने बॉर्डर पर सख्‍ती बरती और लॉकडाउन को कड़ाई से अपनाया।  यहां तक कि जब दूसरे देश प्रतिबंधों में ढील दे रहे थे, चीन ने सख्‍त प्रतिबंध लागू कर रखे थे। इस बार देश में कोरोना संक्रमण के आ रहे नए मामलों के लिए चीन प्राधिकरण पर्यटकों के एक समूह को जिम्‍मेदार ठहराया है। 

बताया जा रहा है कि इनमें से अधिकतर मामले उत्‍तरी और उत्‍तरी पश्चिमी प्रांत में सामने आए हैं। शंघाई से यह दंपती गांसू प्रांत के सियान और मंगोलिया गए।  जो भी मामले सामने आ रहे हैं वे सभी इन्हीं दंपती के संपर्क में किसी न किसी तरह आए थे। 

 इसके बाद यहां के पर्यटन स्‍थलों को बंद कर दिया है।  स्‍थानीय स्‍तर पर सरकारों ने बड़े पैमाने पर टेस्टिंग शुरू कर दी है।  इसके अलावा प्रभावित क्षेत्रों में स्थित स्‍कूलों और सभी मनोरंजन स्‍थलों को बंद कर दिया गया।  हाउंसिंग कंपाउंड्स पर भी रोक लगा दी गई। 

कुछ क्षेत्रों जैसे लांझूहो में नागरिकों को जब तक जरूरी न हो घर से बाहर न निकलने के लिए कहा गया है। लांझूहो की आबादी करीब 40 लाख है। जिन लोगों का घर से निकलना जरूरी है, उन्‍हें हर हाल में निगेटिव कोविड-19 टेस्‍ट रिपोर्ट (Negative Kovid-19 test report)  पेश करनी होगी। प्रभावित क्षेत्रों में एयरपोर्ट्स पर सैंकड़ों फ्लाइट्स को कैंसिल किया गया है। सियान और लांझूहो से उड़ान भरने वाली करीब 60 फीसदी फ्लाइट्स कैंसिल हो गई हैं।