सीबीआई ने भारत में फुटबॉल मैचों में कथित मैच फिक्सिंग की शुरुआती जांच शुरू की है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। सीबीआई ने बताया कि करीब 15 दिन पहले शुरू हुई जांच के दौरान सीबीआई ने दिल्ली स्थित अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ से कई भारतीय फुटबाल क्लबों के डॉक्युमेंट्स मांगे और इकठ्ठा किए। 

11 साल पहले ही सूर्यकुमार यादव को लेकर रोहित शर्मा ने की थी चौंकाने वाली भविष्यवाणी, वायरल हुआ मामला


सीबीआई ने कहा कि जांच के दायरे में मैचों के परिणामों में हेराफेरी करने में सिंगापुर स्थित एक कथित ‘मैच फिक्सर’ की भूमिका है। अधिकारियों ने शुरुआती जांच में नामित संदिग्धों और आरोपों के विवरण के बारे में कोई जानकारी देने से इनकार कर दिया, क्योंकि इससे जांच में बाधा आ सकती है जो अभी शुरुआती चरण में है। सीबीआई ने कहा कि एजेंसी को कुछ दस्तावेज मिले हैं, जबकि कुछ अन्य का अभी इंतजार है।

भारत ने 65 रन की जीत के साथ शृंखला में अजेय बढ़त हासिल की, सूर्यकुमार जड़ा विस्फोटक शतक


उन्होंने कहा कि एजेंसी ने जांच में शामिल होने के लिए कई भारतीय फुटबॉल क्लबों से भी सहयोग मांगा है। उन्होंने कानून का हवाला देते हुए कहा कि सीबीआई प्रारंभिक जांच के तहत तलाशी, गिरफ्तारी या समन के जरिए पूछताछ नहीं कर सकती है। सीबीआई ने कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसी प्रारंभिक जांच के दौरान हितधारकों के सहयोग पर निर्भर करती है और जब उसके पास प्रथम दृष्टया अपराध का संकेत देने वाली सामग्री होती है तब प्राथमिकी दर्ज करती है।