कोविशील्ड  वैक्सीन की बूस्टर डोज  के लिए लोगों को 600 रुपये और टैक्स नहीं चुकाना होगा.सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने शनिवार को ऐलान किया कि वो 225 रुपये की किफायती कीमत पर ये टीका प्राइवेट अस्पतालों को देंगे. 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए बूस्टर डोज का वैक्सीनेशन शुरू होने के एक दिन पहले ये राहत पूनावाला की ओर दी गई है.  

 दरअसल, बूस्टर डोज के लिए सरकार ने प्राइवेट वैक्सीनेशन सेंटर्स को ही अधिकृत कर रखा है. ऐसे में इस कीमत को लेकर सवाल उठ रहे हैं कि क्या आम नागरिक ये बूस्टर डोज के लिए जाएंगे. केंद्र सरकार ने शनिवार को घोषणा की थी कि अब 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को प्रिकाशन डोज दी जा सकेगी. उधर, स्वदेशी भारत बायोटेक ने भी बूस्टर डोज के लिए अपनी वैक्सीन कोवैक्सीन की कीमत 1200 से घटाकर 225 रुपये कर दी है. 

केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को चिट्ठी लिखकर 10 तारीख से शुरू होने वाले प्रीकॉशन डोज़ टीकाकरण को लेकर विस्तार में जानकारी दी.केंद्र ने चिट्ठी में कहा प्राइवेट वैक्सीनेशन सेंटर वैक्सीन की कॉस्ट को छोड़कर सर्विस चार्ज के तौर पर 150 रुपए से ज्यादा पैसे नहीं वसूल सकते हैं।जिन लोगों की उम्र 18 साल है और जिन्होंने कोरोना के टीके की दूसरी खुराक लिए 9 महीने पूरे हो चुके हैं वह लोग प्रिकॉशन डोज़ लगवा सकते हैं. प्रिकॉशन डोज में भी वही वैक्सीन दी जाएगी जो पहली और दूसरी डोज में दी गई थी। यानी कि अगर किसी ने पहली और दूसरी डोज कोविशील्ड की ली है तो उसे प्रिकॉशन डोज कोविशील्ड लगाई जाएगी और जिसने पहली और दूसरी डोज कोवैक्सीन की ली है तो उसे प्रिकॉशन डोज कोवैक्सीन दी जाएगी. 

हालांकि हेल्थकेयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोविड की बूस्टर डोज पहले की तरह निशुल्क दी जा रही है. वहीं देश में 12 से अधिक उम्र के लोगों को भी कोरोना वैक्सीन देने का काम तेज गति से चल रहा है. देश में कुल कोविड वैक्सीनेशन अब तक 186 करोड़ से अधिक हो चुका है. देश में कोरोना की पहली डोज लेने वालों की तादाद 100 करोड़ के करीब पहुंच चुकी है. कोरोना के रोजाना के मामले अब रोजाना औसतन एक हजार के करीब आ गए हैं, हालांकि केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र, केरल समेत पांच राज्यों को कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर फिर आगाह किया है. 

वहीं स्वदेशी कंपनी भारत बायोटेक ने भी बू्स्टर डोज के लिए अपने टीके कोवैक्सीन की कीमत 1200 रुपये से घटाकर 225 रुपये कर दी है. कंपनी की अधिकारी सुचित्रा पिल्लै ने भी कहा है कि केंद्र सरकार के साथ विचार-विमर्श के बाद कोवैक्सीन की कीमत घटाने का निर्णय़ किया गया है.