गर्मी आते ही हर कोई छुट्टियों की प्लानिंग में लग जाता है... इस दौड़ती भगति जिंदगी में हर कोई सुख और आराम के दो पल बिताना चाहता है और चाहता है और यह भी की इस भीषण गर्मी में सर्दी का मजा लिया जाए जिसके लिए वो अक्सर मनाली, शिमला, कश्मीर, मसूरी जाने की तयारी करते हैं. लेकिन छुट्टियाँ होने के कारण यहां भीड़ इतनीअधिक हो जाती है यहां पर्यटक अपनी छुट्टियों को अच्छे से एन्जॉय नहीं कर पाते हैं।

अगर आप भी इन छुट्टियों अपनों के साथ कुछ क्वालिटी टाइम स्पेंड करना चाहते हैं...तो आज हम आपको कुछ ऐसी जगहों से रूबरू कराने जा रहें है जहां आप भीड़भाड़ से दूर आप अपनी छुट्टियों को और भी यादगार बना सकेंगे। भीड़भाड़ से दूर आप अपनी छुट्टियों को और भी यादगार बना सकेंगे।

द्रास- कारगिल से करीब 62 किलोमीटर दूर स्थित खूबसूरत और बेहद ठंडा शहर द्रास समुद्र तल से करीब 3280 मीटर ऊंचाई पर बसा है। इसे 'लदाख का प्रवेश द्वार' भी कहा जाता है। यह शहर पर्यटकों के बीच अपने उबड़ खाबड़ प्राकृतिक दृश्य के लिए मशहूर है।

राष्ट्रीय राज मार्ग-1 पर शानदार सड़क है, जिस पर आप बेहतरीन नजारों के बीच यात्रा कर सकते हैं।

 हेमकुंड साहिब जिसे गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब जी भी कहते हैं, सिक्खों का मुख्य तीर्थस्थल है, जो उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित है। यह क्षेत्र ग्लेशियर झील से घिरा हुआ है। ठंड के मौसम में बर्फ से ढके हुए इस क्षेत्र की सैर, गर्मी में ही की जाती है। लोगों को यहाँ तक पहुँचने के लिए 13 किलोमीटर की पैदल यात्रा या फिर खच्चर द्वारा यात्रा करनी होती है। 

उत्तरी सिक्किम सिक्किम राज्य का उत्तरी सिक्किम क्षेत्र, सबसे उँची चोटी कंचनजंगा का घर भी है। उत्तरी सिक्किम भारत के सबसे ठंडे क्षेत्रों में से एक है। यहाँ का तापमान कम से कम -40 डिग्री तक पहुँच जाता है। यहाँ की कई लोकप्रिय जगह जैसे लाचुंग मठ, ज़ीरो पॉइंट आदि और यहाँ की संस्कृति पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं।

लेह प्राचीन राज्य लद्दाख की राजधानी लेह पर्यटकों का सबसे मनपसंद पर्यटन स्थल है। यहाँ साल भर तापमान लगभग 7 डिग्री से ज़्यादा नहीं होता और ठंड के समय और घटता जाता है। लोग दूर दूर से यहाँ की संस्कृति और परंपरा के साथ, यहाँ के कई आकर्षक केंद्रों का मज़ा लेने आते हैं। 

तवांग अरुणांचल प्रदेश का ये छोटा सा शहर अपने रंग-बिरंगे घरों और खूबसूरत झरनों की खूबसूरती के लिए जाना जाता है। यहां की हरी-भरी वादियां मन को शांति और तन को ठंडक देने के लिए काफी हैं।