नई दिल्ली। बागेश्वर धाम वाले धीरेंद्र शास्त्री के चमत्कारों को लेकर इन दिनों में सुर्खियों में हैं। इस बीच अब उनके मंच पर एक मुस्लिम युवती ने धर्म परिवर्तन किया है। सुल्ताना नाम की युवती का नाम बदलकर अब सुरभि दासी कर दिया गया है। इसको लेकर सुल्ताना ने कहा है कि वह अपनी इच्छा से धर्म बदल रही है। उसने यह भी कहा कि मूर्ति पूजा की वजह से परिवार ने उसको निकाल दिया था। सनातन में अपनी आस्था रखने वाली सुल्ताना ने कहा कि उसे कई वजहों से यह धर्म पसंद है।

तो क्या बस 24 साल में भारत बन जाता 'इस्लामिक मुल्क', NIA ने किया ऐसा सनसनीखेज खुलासा

घर वालों ने त्याग दिया था

इस महिला ने रायपुर में धीरेंद्र शास्त्री के मंच से कहा था कि मेरा नाम सुल्ताना है, मैं छत्तीसगढ़ बिलासपुर से हूं। मेरे पिता जी का नाम आमिर खान है, मेरे 3 भाई हैं। मूर्ति पूजा करने की वजह से मेरे घरवालों ने मुझे त्याग दिया है। वो कहते हैं मुस्लिम के नाम पर तू कलंक है, मरेगी तो जहन्नुम में जाएगी। मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है।'

सभ्यता वाला धर्म है सनातन

इसको लेकर धीरेंद्र शास्त्री ने मंच पर उससे पूछा की वो हिंदू क्यों बनना चाहती है, इसपर सुल्ताना कहती है, 'मेना मन बोलता है कि हिंदू धर्म से अच्छा धर्म हो ही नहीं सकता कभी। क्योंकि यह सभ्यता वाला धर्म है, संस्कारों वाला धर्म है जहां भाई-बहनों की शादी नहीं होती है। औरतों की जिंदगी बर्बाद नहीं होती तलाक, तलाक तलाक बोलकर।' 

गजबः इस लड़की ने बस 6 घंटे के अंदर ही कमा डाले 8 करोड़ रुपए, इंस्ट्राग्राम पर हुई वायरल, जानिए कैसे

100 करोड़ हिंदू भाई साथ

धीरेंद्र शास्त्री ने महिला से पूछा की क्या वह किसी दबाव में धर्म बदल रही है उस पर सुल्ताना कहती है कि नहीं वह अपनी मर्जी से ऐसा कर रही है। इसको लेकर धीरेंद्र शास्त्री ने कहा,'बहन सनातन धर्म में आपका स्वागत है। आज से भारत के 100 करोड़ हिंदू आपके भाई हैं।' इतना ही नहीं बल्कि सुल्ताना ने धीरेंद्र शास्त्री को राखी बांधकर भाई बनाने की इच्छा जाहिर की थी जिस पर बागेश्वर धाम वाले बाबा ने कहा कि वह राखी लेकर आए और व्यासपीठ पर ही बांध दे। इसके बाद उन्होंने राखी बंधवाई और हिंदू बनाया।