अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने कहा कि भारत के रूस के साथ संबंध, अमेरिका और रूस के बीच संबंधों से अलहदा है और इसमें परेशानी की कोई बात नहीं है. अमेरिका ने साथ ही कहा कि उसने रूस के साथ संबंध रखने वाले हर देश से नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को सुरक्षित रखने में अपने प्रभाव का इस्तेमाल करने को कहा है.

यह भी पढ़े : नहीं डरे यूक्रेन के राष्ट्रपति, देश छोड़ने के अमरीकी ऑफर को ठुकराया, कहाः मुझे हथियार दीजिए, गाड़ी नहीं


विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि भारत के साथ अमेरिका के अहम हित और मूल्य जुड़े हुए हैं. प्राइस ने कहा, भारत के साथ हमारे अहम हित जुड़े हुए हैं. हम भारत के साथ अहम मूल्य साझा करते हैं, और हम जानते हैं कि भारत के रूस के साथ संबंध उन संबंधों से अलग हैं जो हमारे और रूस के बीच हैं और सही में इसमें कोई परेशानी की बात नहीं है.

यह भी पढ़े : कुंडली में ये खतरनाक दोष हो सकता है विवाह में देरी, प्रमोशन में बाधा के लिए उत्तरदायी, ऐसे करें निवारण


उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, भारत के रूस के साथ मजबूत रिश्ते हैं, जो हमारे यकीनन नहीं हैं. भारत और रूस के बीच रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में संबंध हैं,जो हमरे बीच नहीं है, हमने प्रत्येक देश से कहा है कि जिनके संबंध हैं और जो लाभ ले सकते हैं, वे उसका इस्तेमाल रचनात्मक तरीके से करें.

गौरतलब है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पूर्वी यूक्रेन में विशेष सैन्य अभियान की घोषणा की थी और उसके बाद से दोनों देशों के बीच हमले जारी है. इस हमलों के लिए रूस की चौतरफा आलोचना हो रही है और अमेरिका सहित कई देशों ने रूस पर प्रतिबंध लगाए हैं. प्राइस ने कहा कि अमेरिका की भारत के साथ व्यापक रणनीति साझेदारी है.