पॉप्युलर सिंगर और म्यूजिक कंपोजर अदनान सामी (Popular singer and music composer Adnan Sami) ने पिछले दिनों राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) के हाथों पद्म श्री सम्मान लिया था। एक बड़ा पाकिस्तानी तबका अदनान सामी के खिलाफ है क्योंकि उन्होंने अपनी पाकिस्तानी नागरिकता (Pakistani citizenship) छोड़ भारतीय नागरिकता (Indian citizenship) ले ली है। पाकिस्तान के लोग सोशल मीडिया पर अक्सर अदनान को ट्रोल करते रहते हैं। अब पद्म श्री अवॉर्ड (Padma Shri Award) मिलने के बाद एक बार फिर अदनान पाकिस्तानी ट्रोल्स के निशाने पर आ गए हैं।

एक हालिया इंटरव्यू में अदनान सामी ने अपने उस ट्वीट के बारे में बात की जो उन्होंने 2019 में विवादित CAA कानून पर किया था। तब इस ट्वीट पर काफी विवाद हो गया था। इस ट्वीट के बारे में उन्होंने कहा, 'मेरे आसपास के लोगों का CAA से कोई लेना देना नहीं है। मुझे मिली नागरिकता का भी इस कानून से कोई लेना देना नहीं है।' इस मुद्दे पर आगे बात करते हुए अदनान ने कहा, 'दरअसल मैंने पाकिस्तानी लोगों को कहा था कि उनका इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है। यह भारत का अंदरूनी मामला है और उन्हें अपनी नाक इससे बाहर रखनी चाहिए।'

अदनान सामी से ऐक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut ) के उस विवादित बयान के बारे में भी पूछा गया जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत को आजादी भीख में मिली और असली आजादी 2014 में मिली। इस बयान पर इतना बवाल हुआ कि काफी लोगों ने कंगना से पद्म श्री वापस लिए जाने की मांग कर दी थी। इस पर बात करते हुए अदनान ने कहा, 'भारत के बारे में खूबसूरत बात यह है कि यह एक लोकतंत्र है। मैं जो चाहूं वह कह सकता हूं और आप जो चाहते हैं वह कह सकते हैं, कंगना को जो सही लगता है वह कह सकती हैं। मैं उनसे सहमत भी हो सकता हूं या असहमत भी।'

अदनान सामी से उन सोशल मीडिया ट्रोल्स के बारे में भी बात की गई जिन्होंने कहा कि उन्हें पद्म श्री अवॉर्ड 'चमचागिरी' करने के कारण मिला है। इस पर उन्होंने कहा, 'यह बहुत बचकाना बात है कि किसी को चमचा सिर्फ इसलिए कहा जाए क्योंकि वह किसी व्यक्ति को पसंद करता है। हो सकता है कि मुझे आपकी चॉइस पसंद न हो लेकिन फिर भी मैं आपकी चॉइस के अधिकार के लिए लड़ूंगा।'