प्रतिष्ठित अमेरिकी पत्रिका फोर्ब्स के एक अरब डॉलर या उससे ज्यादा की संपत्ति वाले धनकुबेरों की सूची में इस साल 101 भारतीयों को शामिल किया गया है जिसमें 13 नए चेहरे हैं। सबसे ज्यादा अरबपतियों के मामले में भारत चौथे स्थान पर है।

फोर्ब्स ने बताया कि 23.2 अरब डॉलर के साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी भारतीयों में पहले नंबर पर हैं जबकि वैश्विक स्तर पर उन्हें 33वां स्थान मिला है। उनके बाद मित्तल उद्योग के प्रमुख लक्ष्मी नारायण मित्तल (16.4 अरब डॉलर) का स्थान है जो वैश्विक सूची में 56वें स्थान पर हैं। विप्रो के संस्थापक अजीम प्रेमजी 14.9 अरब डॉलर, सनफार्मा के संस्थापक दिलीप शांघवी 13.7 अरब डॉलर तथा एचसीएल के संस्थापक शिव नादर 12.3 अरब डॉलर के साथ वैश्विक स्तर पर क्रमश: 72वें, 84वें और 102 वें स्थान पर रहे। 

सूची के अनुसार, माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स 86 अरब डॉलर के साथ दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं। पिछले एक साल में उनकी संपत्ति 11 अरब डॉलर बढ़ी है। वह लगातार चौथे साल तथा पिछले 23 साल में 18 बाद शीर्ष पर रहे हैं। सभी धनकुबेरों की कुल संपत्ति पिछले एक साल में 6480 अरब डॉलर से बढ़कर 7670 अरब डॉलर पर पहुंच गई है। वर्ष 2016 में एक अरब डॉलर की संपत्ति वाले लोगों की संख्या 1,810 थी जो इस साल बढ़कर 2,043 पर पहुंच गई। इस प्रकार इनके पास औसतन 3.75 अरब डॉलर की संपत्ति है।

वैश्विक सूची में दूसरे स्थान पर वारेन बफेट हैं जिनकी संपत्ति पिछले साल के 60.8 अरब डॉलर से बढ़कर 75.60 अरब डॉलर पर पहुंच गई। तीसरे स्थान पर अमेजन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेफ बिजोस हैं। पिछले एक साल में उनकी संपत्ति में सबसे ज्यादा 27.60 अरब डॉलर बढ़ोतरी दर्ज की गई और यह 72.8 अरब डॉलर पर पहुंच गई। स्पेन की परिधान कंपनी जारा फैशन चेन के संस्थापक अमानशिओ आर्टेगा की संपत्ति बढ़कर 71.3 अरब डॉलर होने के बावजूद वह चौथे नंबर पर खिसक गए हैं।

फेसबुक के सह संस्थापक मार्क जुकरबर्ग के पास 56 अरब डॉलर हैं और वह सूची में पांचवें स्थान पर हैं। फोर्ब्स ने एक बयान में कहा, 'फोर्ब्स के दुनिया के अरबपतियों की सूची 17 फरवरी 2017 के आंकड़ों के आधार पर तैयार की गई है। सूची में परिवारों की बजाय व्यक्तियों पर फोकस किया गया है। कुछ मामलों में जहां मालिकाना हक के बारे में स्पष्टता नहीं है, भाइयों/भाई-बहनों/बहनों या पति-पत्नियों को एक साथ रखा गया है। हालांकि, यह भी ध्यान रखा गया है कि ऐसे मामलों में उनके पास अलग-अलग भी कम से कम एक लाख डॉलर की संपत्ति हो।' उसने बताया कि अरबपतियों की संख्या में इस साल 233 का इजाफा हुआ है जो पिछले 31 साल में सर्वाधिक है। कुल 2043 अरबपतियों में 1,371 ने अपनी संपत्ति खुद बनाई है, 238 को यह विरासत में मिली है जबकि 434 को कुछ संपत्ति विरासत में मिली थी जिसे उन्होंने और बढ़ाया है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की संपत्ति का विश्लेषण अलग से जारी किया गया है। कुल 3.5 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ वह 544वें स्थान पर हैं। फोर्ब्स ने उनके बारे में लिखा है, 'मिडटाउन मैनहैटन रियल इस्टेट गिरावट में है और इसलिए डोनाल्ड ट्रंप की संपत्ति घटी है। अक्टूबर 2016 में जब दुनिया के 400 सबसे अमीर अमेरिकियों की सूची जारी की गई थी, उस समय श्री ट्रंप के पास 3.7 अरब डॉलर की संपत्ति थी।' आंकड़ों के अनुसार, दुनिया के 20 शीर्ष अरबपतियों की कुल संपत्ति 938.4 अरब डॉलर है जबकि पिछले साल यह 826.5 अरब डॉलर रही थी। क्षेत्रवार सबसे ज्यादा 720 धनकुबेर एशिया प्रशांत क्षेत्र में हैं। इसके बाद अमेरिका और यूरोप का स्थान है जहां क्रमश: 565 और 530 अरबपति हैं।