अमेरिका की योसेमाइट वैली में मौजूद 'फायरफॉल' कहे जाने वाले बेहद खूबसूरत चमकीले नारंगी झरने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं। कुछ सोशल मीडिया यूजर्स इस नारंगी पानी को झरने से गिरता हुआ लावा बता रहे हैं। वहीं नेशनल पार्क सर्विस का कहना है कि ऐसा फरवरी में होता है। दरअसल फरवरी महीने के आखिरी 2 हफ्तों में झरना पीछे से आ रही सूरज की रोशनी के कारण चमकते नारंगी रंग का दिखाई पड़ता है। तस्वीरों में देखिए इस झरने की खूबसूरती। इसकी खूबसूरती आपको अपनी ओर आकर्षित कर लेगी। 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस झरने की तस्वीर को देख कर यूजर्स इस नारंगी पानी को झरने से गिरता हुआ लावा बता रहे हैं। वहीं नेशनल पार्क सर्विस का कहना है कि ये खूबसूरत नजारा फरवरी महीने मे देकहने को मिलता है। दरअसल फरवरी महीने के आखिरी 2 हफ्तों में झरना पीछे से आ रही सूरज की रोशनी के कारण चमकते नारंगी रंग का दिखाई पड़ता है। तस्वीरों में देखिए इस झरने कि खूबसूरती। 

योसेमाइट वैली में 2 हजार फुट के इस झरने को देखने के लिए इस साल लोग यहां नहीं आ पा रहे हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण ऑनलाइन बुकिंग के बाद एक तय संख्या में ही लोगों को एंट्री मिल रही हैं। नेशनल पार्क सर्विस के अनुसार, यह झरना सर्दियों और वसंत में बेहद खूबसूरत दिखता है। अगर मौसम सही है तो सूरज की नारंगी किरणें गिरते हुए झरने पर पड़ती हैं और यहां की खूबसूरती में चार चांद लग जाते हैं। दरअसल इस झरने की  खूबसूरती सूरज की किरणों से ही बढ़ती है। 

वसंत के मौसम में इस झरने को देख कर ऐसा लगता है कि जैसे इस झरने से पानी नहीं लावा गिर रहे हों। आपको बता दें कि पर्यटक इसी अद्भुत नजारे को देखने के लिए पहुंचते हैं, लेकिन जब ऐसा नहीं होता है तो वो मायूस हो जाते हैं। इसलिए अगर आप भी यहां जाने का प्लान बना रहे हैं तो मौसम का चुनाव सही करें। इस खूबसूरत झरने को देखने के लिए अब पर्यटकों की संख्या सीमित की जा रही है। साल-दर-साल यहां लोगों की संख्या को घटाया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां पर्यटकों और फोटोग्राफर्स की संख्या बढ़ने के कारण चट्‌टान को नुकसान पहुंच रहा है, इसलिए अब पर्यटकों की संख्या सीमित की जा रही है। 

 

गौरतलब है कि इस खूबसूरत झरने को देखने का सबसे अच्छा समय शाम का होता है। साधारणतः इस समय में आसमान साफ होता है। क्योंकि सूरज की किरणें इस झरने को और खूबसूरत बनती है ऐसे में अगर आसमान में कुछ बादल हैं और सूरज की सीधी किरणें यहां नहीं पहुंच रहीं तो नारंगी रंग की ऐसी खूबसूरत तस्वीर देखने को नहीं मिलती है।