देश के पूर्वोत्तर राज्य सिक्किम स्थित नामची एक बेहद खूबसूरत हिल स्टेशन है, जो यहां आने वाले सैलानियों को घूमने-फिरने की हर सुविधाएं उपलब्ध कराता है। नामची एक पर्वतीय स्थल है जो समुद्र तल से लगभग 4314 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। नामची को स्काई हाई' के नाम से भी जाना जाता है। राजधानी शहर गंगटोक से मात्र 92 किमी दूर स्थित ये जगह कंचनजंगा का अद्भुत दृश्य पेश करता है। लोक-संस्कृति के मामले में यह स्थल राज्य का एक महत्वपूर्ण केंद्र हैं, जहां आपको नेपाली संस्कृति की झलक भी देखने को मिलेगी। गर्मियों के दौरान यह एक आदर्श स्थल है जहां का प्लान आप अपने परिवार या दोस्तों के साथ बना सकते हैं। 

नामची एक हिल स्टेशन है इसलिए यहां का मौसम ज्यादा गर्म नहीं रहता है। जहां पूरे उत्तर भारत में तापमान सर चढ़ कर बोलता है वहीं नामची अपनी आरामदायक आबोहवा के साथ पर्यटकों का स्वागत करता है। मार्च से जून के दौरान यहां तापमान 22 डिग्री तक ही जाता है। वहीं जुलाई से सितंबर का मानसून का मौसम अपने घने कोहरे के लिए फेमस है। सर्दियों के दौरान यहां तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक चला जाता है। वसंत और शरद ऋतु के दौरान यहां वन्यजीवन का अनुभव लेने का सही समय माना जाता है। इस दौरान चारों तरफ हरियाली छाई रहती है।


आने का सही समय

नामची सिक्किम का बेहद खास जगह है जहां के घूमने का प्लान आप साल के किसी भी महीने में बना सकते हैं। हालांकि ऊंचाई के कारण, मार्च से अक्टूबर के महीनों के दौरान नामची जाने का सबसे अच्छा समय है। 


मुख्य आकर्षण
बौद्ध संस्कृति के साथ नामची एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। यहां आप बौद्ध धर्म से संबंधित कई महत्वपूर्ण स्थल देख सकते हैं। नामची मठ यहां का सबसे प्रसिद्ध पवित्र स्थान है, जहां आत्मिक और मानसिक शांति के लिए टूरिस्ट दूर-दूर से आते हैं। यह लोकप्रिय मठ रालोंग मठ और टेंडोंग हिल के साथ पहाड़ी पर स्थित है। मठ के अलावा दर्शनीय स्थलों में आप आध्यात्मिक गुरू संत गुरु रिनपोचे की 118 फीट लंबी मूर्ति को देख सकते हैं।

यह यह प्रसिद्ध आध्यात्मिक स्थान है, जो सिक्किम के लोगों के लिए मुख्य आस्था का केंद्र माना जाता है। यह विशाल प्रतिमा संदरूपतसे पहाड़ी पर स्थित है। यह एक पवित्र पहाड़ी है जिसे इच्छा पूरी करने वाली पहाड़ी कहा जाता है। इसके अलावा आप यहां प्रसिद्ध सिद्धेश्वर धाम का यात्रा कर सकते हैं, जहां भगवान शिव की 108 फीट की विशाल प्रमिमा मुख्य आकर्षण का केंद्र है। आप यहां प्राकृतिक सुंदरता का आनंद ले सकते हैं, यहां के हरे-भरे चाय के बागान सैलानियों का बहुत ही ज्यादा पसंद आते हैं।


कैसे पहुंचे

नामची एक प्रसिद्ध स्थान है जहां आप आसानी से तीनों मार्गों से पहुंच सकते हैं। यहां की यात्रा करने का सबसे अच्छा तरीका सड़क मार्ग है। यह शहर सिक्किम और पश्चिम बंगाल (गंगटोक, पेलिंग और सिलीगुड़ी अन्य पड़ोसी शहर) अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां का नजदीकी हवाईअड्डा नामची से 95 किलोमीटर दूर बागडोगरा हवाई अड्डा है। आप चाहें तो यहां रेल मार्ग से भी पहुंच सकते हैं, यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन है।