छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 231 कि.मी. की दूरी पर स्थित कोरबा एक बड़ा औधोगिक क्षेत्र है। यह शहर छत्तीसगढ़ की संस्कृति के लिए काफी जाना जाता है। आप यहां कई पर्यटन स्थल के साथ कोयले की खानों को देख सकते हैं। यहां के मानव निर्मित और कुदरती आकर्षण पूरे देश में जाने जाते हैं।


यह शहर इतिहास के कई किस्से दर्शाता है। इस शहर में घूमने की शुरुआत आप यहां के चैतुरगढ़ से कर सकते हैं। शहर से 70 कि.मी. की दूरी पर स्थित चैतुरगढ़ का किला इतिहास के कई खजानों के बारे में बताता है। इस किले की ऊंचाई समुद्र तल से 3060 फीट है। यहां पर एक मंदिर भी है जो महिषासुर को समर्पित है। यहां की झील को भी आप इस किले की ऊंचाई से निहार सकते हैं।


इसके अलावा आप यहां सीतामढ़ी गुफा, जो इस शहर की शान कहीं जाती है। इसके बाद आप स्नेक पार्क घूम सकते हैं। रेपटाइल लवर्स के लिए यह स्थान जन्नत से कम नहीं है। इसके बाद नंबर आता है पाली का। पाली स्थल राजा विक्रमादित्य की पूजा के लिए जाना जाता है। इसके अलावा भी कई बेहतरीन जगह हैं जहां आप घूम सकते हैं।


कैसे जाएं
मुंबई, भोपाल, नागपुर और खजुराहो से रायपुर हवाई अड्डे तक प्रतिदिन वायु सेवा है। रायपुर से पर्यटक आसानी से कोरबा तक पहुंच सकते हैं। वहीं सड़क मार्ग से भी कोरबा देश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुटा हुआ है।



कहां ठहरें

यहां ठहरने के लिए कई बेहतरीन होटल हैं जहां आप ठहर सकते हैं। जिसमें होटल सेन्टर प्वाइंट, होटल विश्राम रिजेंसी, ब्लू डायमंड द होटल, होटल विंदावन, एस.ई.सी.एल. गेस्ट हाऊस शामिल हैं।