ऋषिकेश. चारधाम यात्रा 2022 लिए अब तक दो लाख से ज़्यादा रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं. इधर, उत्तराखंड के पड़ोसी राज्यों उत्तर प्रदेश और दिल्ली में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, जिसके असर का खतरा उत्तराखंड में भी देखा जा रहा है इसलिए यात्रियों के लिए कोविड की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य किए जाने का नियम भी लागू किए जाने की खबर है. वहीं कांग्रेस ने सरकार की तैयारियों को लेकर सवाल खड़े किए हैं.

यह भी पढ़े : 30 अप्रैल को होगा सूर्यग्रहण, बन रहा है शनि अमावस्या का दुर्लभ संयोग, इन तीन राशियों के लिए रहेगा भाग्यशाली


चार धाम यात्रा 3 मई से शुरू होगी, जब गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट खुलेंगे. केदारनाथ के कपाट 6 और बद्रीनाथ के 8 मई को खुल जाएंगे. इससे पहले ऋषिकेश में बायोमैट्रिक रजिस्ट्रेशन मुख्यालय में ऑनलाइन पंजीयन कराने वालों ने रिकॉर्ड तोड़ डाले हैं. बायोमेट्रिक अधिकारी प्रेमानंद के अनुसार इस बार देश विदेश से दो लाख से ऊपर श्रद्धालु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं. प्रेमानंद के मुताबिक ऋषिकेश आईएसबीटी में बड़ी संख्या में रजिस्ट्रेशन काउंटर भी खोले गए हैं और कियोस्क का भी उपयोग किया जा रहा है.

यह भी पढ़े : नई Honda City Hybrid की ऑनलाइन प्री-बुकिंग शुरू, लॉन्च को लेकर नई डिटेल आई सामने


सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि राज्य सरकार चार धाम यात्रा में कोविड संक्रमण के लिहाज़ से गाइडलाइन जल्द जारी कर सकती है. बताया जा रहा है कि चार धाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को तीन दिन के भीतर की कोविड निगेटिव रिपोर्ट कैरी करना अनिवार्य होगा. यही नहीं इसे राज्य के पर्यटन विभाग के पोर्टल पर अपलोड भी करना होगा. हालांकि इस खबर की आधिकारिक पुष्टि नहीं है.