रेगिस्तान का नाम लेते ही हमारे जेहन में रेतीले टीले नजर आने लगते हैं। दूर दूर तक बस रेत ही रेत और पानी-हरियाली का कहीं कोई नामो निशां तक नहीं। गौरतलब है कि पृथ्वी के एक तिहाई हिस्से में मरुस्थल फैला हुआ है। सहारा, थार जैसे बड़े रेगिस्तानों के बारे में तो सब जानते हैं, मगर क्या आप जानते हैं कि दुनिया का सबसे छोटा रेगिस्तान कौनसा है। चलिए हम आपको आज इस बात से भी वाकिफ करवा देते हैं। 

कनाडा के युकोन राज्य में स्थित कारक्रॉस रेगिस्तान दुनिया का सबसे छोटा डेजर्ट है। जी हां, महज एक वर्ग मील के इस रेगिस्तान को आप पैदल चलकर भी नाप सकते है। दरअसल इसके पास बसा हुआ कारक्रॉस गांव लगभग 4500 साल पहले बसा था। यहां पर कुल 301 लोग रहते हैं। स्थानीय निवासियों की मानें तो यह रेत का छोटा सा मरुस्थल आज तक एक पहेली है। कारक्रॉस डेजर्ट काफी ऊंचाई वाले क्षेत्र में है, यहां पर पर्यटक भी खूब आते हैं। बता दें कि काफी सालों तक तो यह इलाका दुनिया की नजरों से परे था। बाद में धीरे धीरे इस पर दुनिया की नजर पड़ी। 

कहा जाता है कि करीब 4500 साल पहले इस जगह पर बैनेट और नारेस झीलें आपस में मिलती थीं। इसी वजह से यहां पर कुदरती पुल बन गया था। इस रेगिस्तान के नाम की भी अनोखी दास्तान है। किसी जमाने में यहां पर कारिबू नामक जंगली जनजाति का निवास था। ये कबीले आपस में झीलों को क्रॉस करके इधर-उधर आते जाते थे। यही वजह थी कि कारिबू और क्रॉसिंग शब्दों के मिलाप से कारक्रॉस नाम पड़ा। आश्चर्य की बात तो यह है कि सर्दियों के मौसम में यहां पर खूब बर्फ पड़ती है। रेत पर जमी बर्फ का मजा लेने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां जमा होते हैं। वैज्ञानिक आज भी इस बात को लेकर हैरान है कि पूरे बर्फीले इलाके में यह छोटा सा रेगिस्तान कैसे बन गया। यहां के निवासियों के लिए आज भी यह जगह पहेली बनी हुई है।