ऋषिकेश. केदानाथ-बदरीनाथ सहित चारधाम दर्शन के लिए तीन जून तक की बुकिंग फुल हो चुकी है. किसी भी धाम में तीन जून से पहले के लिए अब पंजीकरण नहीं कराया जा सकेगा.

यह भी पढ़े : इस एक्टर ने विराट को दे डाली सन्यास की सलाह, कहा - कोहली की वजह से IPL 2022 से बाहर हुई RCB


आपात स्थिति में पुलिस की ओर से कराई जा रहे सीमित पंजीकरण को भी पूरी तरह बंद कर दिया गया है. यात्रा के इच्छुक लोग पर्यटन विभाग के पोर्टल पर आगे की बुकिंग के लिए स्लॉट चैक कर सकते हैं.

यह भी पढ़े : 29 May Lucky Zodiac Signs: ये हैं रविवार की लकी राशियां, सूर्यदेव की पूजा से दूर होगा आर्थिक संकट


ग्रीन सिग्नल दिखने के बाद ही लोग उस तिथि के लिए पंजीकरण करा सकते हैं. फर्जी पंजीकरण के सहारे चारधाम यात्रा करने और कराने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी. सरकार ने इस मामले में पुलिस को सख्त कार्रवाई के निर्देश दे दिए हैं.  इसके साथ ही देश भर के लोगों से अपील की गई है कि चारधाम के लिए केवल पर्यटन विभाग के पोर्टल और एप के जरिए ही पंजीकरण कराएं.

यह भी पढ़े : Horoscope 29 May : ग्रहों की बदलती स्थिति ने इन 4 राशि वालों के लिए खोले है भाग्य के द्वार , ये लोग रहें सतर्क


इसके अलावा किसी भी दूसरी वेबसाइट से पंजीकरण नहीं कराया जा सकता. पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने शनिवार को पर्यटन निदेशालय में पत्रकारों से बातचीत में बताया कि चारधाम यात्रा के दौरान कुछ यात्रियों के फर्जी पंजीकरण कराकर आने की सूचना है.उन्होंने कहा कि पुलिस को यात्रा पर आने वाले लोगों के पंजीकरण की जांच बढ़ाने के साथ ही ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा गया है.

यह भी पढ़े : Vat Savitri Vrat katha : वट सावित्री व्रत पूजा सोमवार को, जरूर पढ़ें वट सावित्री व्रत की कथा


उन्होंने कहा कि ऐसा करने वालों के साथ साइबर कैपे और अन्य सहयोग करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी.  जावलकर ने कहा कि चारधाम यात्रा के लिए पंजीकरण केवल पर्यटन विभाग के पोर्टल और मोबाइल एप के जरिए ही कराया जा सकता है. इसके अलावा यदि कोई किसी अन्य वेबसाइट से पंजीकरण का दावा करता है तो वह पूरी तरह गलत है. 

यह भी पढ़े : Shani Jayanti 2022: 30 साल बाद शनि जयंती पर बन रहा अद्भुत संयोग, इन राशियों के जातक होंगे मालामाल


उन्होंने कहा कि फर्जी पंजीकरण के अभी तक 80 के करीब मामले पुलिस के सामने आए हैं और ऐसे लोगों को आगे बढऩे से रोकने के साथ ही पूछताछ भी कराई जा रही है. कहा कि बिना पंजीरकण किसी भी यात्री को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.