वाह ! Nagaland की लड़कियां अन्य राज्यों से निकली गई आगे, ये रहा सबूत

Daily news network Posted: 2018-12-24 15:04:00 IST Updated: 2019-01-14 14:29:16 IST
वाह ! Nagaland की लड़कियां अन्य राज्यों से निकली गई आगे, ये रहा सबूत
  • पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड की लड़कियां देश के अन्य बड़े-बड़े राज्यों से बहुत आगे हैं। इस बात का खुलासा एक सर्वे में हुआ है।

कोहिमा।

पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड की लड़कियां देश के अन्य बड़े-बड़े राज्यों से बहुत आगे हैं। इस बात का खुलासा एक सर्वे में हुआ है। यहां की नाबालिग लड़कियां अन्य राज्यों के अपेक्षा ज्यादा स्वस्थ, ज्यादा शिक्षित और आकांक्षावादी होने के साथ-साथ आधुनिक सुविधाओं का उपयोग करने में भी आगे हैं।

 


 टिनेजर गर्ल रिपोर्ट(टीएजी) 2018 के मुताबिक नागालैंड सभी राज्यों में किए गए सर्वे में छठे स्थान पर है। हालांकि सर्वे के अनुसार नागालैंड की लड़कियां नई उम्र की कुशल लड़कियों के मामले में पीछे हैं।


ये सर्वे प्राइमरी डाटा कलेक्शन के जरिए 30 राज्यों की 74,000 लड़कियों (13-19 वर्ष) से बात-चीत के आधार पर किया गया। इसमें नागालैंड से कुल 1500 सैंपल लिए गए थे।

 


 जब नागालैंड के आंकड़ों को राष्ट्रीय औसत से तुलना किया गया तो पाया गया कि 13 से 19 साल की युवतियों के 46.3% राष्ट्रीय औसत की तुलना में 72.2% लड़कियों के बाॅडी मास इन्डेक्स बेहतर थे। पोषण स्तर भी 85.3% था जबकि राष्ट्रीय स्तर 48.2% है। यहां की 25% लड़कियां अंडर वेट थी और मोटापा सिर्फ 2.5% युवतियों में ही पाया गया।

 


 इसके साथ ही नागालैंड की 85.3% लड़कियों में एनीमिया के कोई संकेत नहीं मिले जबकि राष्ट्रीय तौर सिर्फ 51.8% लड़कियों में ही एनीमिया के कोई संकेत नहीें मिले। वहीं राष्ट्रीय 48.2% की तुलना में 85.3% लड़कियों का हिमोग्लोबिन लेबल भी अच्छा था।


 शिक्षा की बात करें तो भारत में 80.6% लड़कियां वर्तमान में पढ़ाई कर रही हैं, जबकि नागालैंड की 89.4% लड़कियां पढ़ाई कर रही हैं। इसके साथ ही राज्य में बाल विवाह और किशोर अवस्था की शादी 99.2% के आंकड़ों के साथ न के बराबर है। यह आंकड़ा 13-15 आयुवर्ग में 100% और 16-19 आयुवर्ग में 98.5% है। जबकि राष्ट्रीय औसत 95.8% है। वहीं पढ़ाई के मामले में 81.3% लड़कियों की इच्छा कम से कम स्नातक करना या नौकरी के लिए प्रवेश परीक्षा देना होता है। वहीं राष्ट्रीय स्तर पर सिर्फ 70% लड़कियां ही ऐसा सोचती हैं। अच्छा करियर और नौकरी के बारे में राष्ट्रीय 74.3% की तुलना में 82.8% नागालैंड की लड़कियां सोचती हैं।

 


 इसके अलावा भी नागालैंड की युवतियां हर स्तर पर सभी मापदंडो में अन्य राज्यों के मुकाबले अच्छा प्रदर्शन रही हैं जबकि न्यू एज स्किल की श्रेणी में ये राज्य अन्य राज्यों से पिछड़ा है। यहां की लड़कियां मोबाइल, इंटरनेट, सोशल मीडिया इत्यादि के मामले अन्य राज्यों से पिछड़ी हुई हैं।