मानस नेशनल पार्क में हर पल लीजिए रोमांच का मजा,कमजोर दिल वालों का आना है मना

Daily news network Posted: 2018-04-20 14:01:31 IST Updated: 2018-04-20 14:01:31 IST
मानस नेशनल पार्क में हर पल लीजिए रोमांच का मजा,कमजोर दिल वालों का आना है मना
  • घूमने के शौकीन लोगों को हमेशा तलाश रहती है कुछ ऐसी जगहों की जो एडवेंचरस हों। तो चलिए आज आपको जंगल की सफारी पर लिए चलते हैं

घूमने के शौकीन लोगों को हमेशा तलाश रहती है कुछ ऐसी जगहों की जो एडवेंचरस हों। तो चलिए आज आपको जंगल की सफारी पर लिए चलते हैं जहां जाकर आप प्राकृति से बेहद नजदीक से जुड़ जाएंगे।

 

 


 मानस नेशनल पार्क असम का एक प्रसिद्ध पार्क है। इसे यूनेस्को नेचुरल वर्ल्ड हेरिटेज साइट के साथ-साथ प्रोजेक्ट टाइगर रिजर्व, बायोस्फियर रिजर्व और एलिफेंट रिजर्व घोषित किया गया है। यह हिमालय के फुट्हिल पर स्थित है और भूटान तक फैला हुआ है।

 

 

 

 इसे रॉयल मानस नेशनल पार्क के नाम से जाना जाता है। यह पार्क बालों वाले खरगोश, असम के छतरी वाले कछुए, नाटे कद वाले सुअर और सुनहरे लंगूर सहित कई लुप्तप्राय: जानवरों का घर है। यहां जंगली पानी की भैंस भी बड़ी संख्या में पाई जाती है। इस पार्क में स्तनपाई की 55, पक्षी की 380, सरीसृप की 50 और उभयचर की 3 से ज्यादा प्रजातियां पाई जाती है।

 

 

 आप चाहें तो यहां जंगल सफारी और प्राकृतिक रास्तों पर चलने का भी आनंद उठा सकते हैं। यह नेशनल पार्क कोकराझार, चिरांग, बकसा, उदालगुरी और दारांग सहित कई जिलों में पड़ता है। अक्टूबर से मार्च के बीच में यह पार्क घूमना सबसे अच्छा माना जाता है।

 


 बेस्ट समय- नवंबर से अप्रेल का समय घूमने के लिए बेस्ट है।

 


 किराया- उद्यान में प्रावेश के लिए बांसबाड़ी रेंज आफिस से आपकों १०० रूपए प्रति व्यक्ति की टिकट लेनी पड़ेगी। साथ ही वाहन के लिए अलग से फीस है। यहां जीप सफारी की भी व्यवस्था है। इसके साथ ही ध्यान देने योग्य बात यह है कि यहां सूर्योदय तक ही घूमने की अनुमति है और पैदल घूमनी सख्त मना है।

 


कहा रूके- मानस नेशनल पार्क घूमने जाए तो यहां रहने के लिए सबसे बेस्ट जगह है मथानगुड़ी का बंगला। यह बुक करवाने के लिए उद्यान के बाहर कई निजी रिजोर्ट हैं। यहां रहकर भी आप वाइल्ड लाइफ का मजा ले सकते हैं। लेकिन मथामगुड़ी में रहने का आनंद ही कुछ और है, यहां शाम को जेनेरेटर चलाकर बिजली मुहैया कराई जाती है, पर रात दस बजते ही जेनरेटर बंद होने के पहले कमरो में लालटेन दे दी जाती है। आप यहां से प्राकृति का भरपूर आंनद ले सकते हैं।

 


 

 कैसे पहुंचे- गुवाहाटी एयरपोर्ट से मानस नेशनल पार्क की दूरी १४५ किमी है जबकि करीब का स्टेशन बरपेटा रोड है। यहां से उद्यान की दूरी २० किमी है।