यहां किराए पर मिलती हैं बीवियां, खुलेआम होता है ऐसा गंदा काम

यहां किराए पर मिलती हैं बीवियां, खुलेआम होता है ऐसा गंदा काम Weird News

आज जमाना काफी बदल चुका है लेकिन फिर भी महिलाओ पर होने वाला शोषण आज भी थमने का नाम नहीं ले रहा। वहींं अगर महिलाओंं के जीवन की बात करेंं तो आजकल महिलाओ की जिस्फरोशी का धंधा भी काफी फल फूल रहा है।

आज जमाना काफी बदल चुका है लेकिन फिर भी महिलाओ पर होने वाला शोषण आज भी थमने का नाम नहीं ले रहा। वहींं अगर महिलाओंं के जीवन की बात करेंं तो आजकल महिलाओ की जिस्फरोशी का धंधा भी काफी फल फूल रहा है। एक समय था जब भारत में प्रथा और परंपराओं के नाम पर न जानें कितनी ही कुरितियों को बढ़ावा दिया जाता था। लेकिन आज एक बार फिर ऐसा लग रहा है जैसे आज भी हमारा समाज पर्दाप्रथा व सती प्रथा जैसी और भी कई कुरीतियों के तले खुलकर सांस नहीं ले पा रहा है। जिसकी वजह है आज भी कुछ जगहों पर प्रथा के नाम पर होने वाले ढ़कोसले के कारण किसी औरत की आबरु को ठेस पहुंचाने की प्रथा।


आज हम आपको एक ऐसी प्रथा के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ महिलाओं को खरीद कर उन्हें इस धंधे में उतार दिया जाता है। जैसे-जैसे लोगों में जागरुकता बढ़ी उन्हें अच्छी और बुरी चीज़े दिखने लगी, जिसके नतीजतन धीरे- धीरे देश से कुप्रथाओं का साया छटने लगा। आपको जान कर हैरानी होगी कि अब केवल महिलाओ को खरीदा या बेचा ही नहीं जाता बल्कि उन्हें एक साल के लिए किराए पर अपनी बीवी भी बनाया जा सकता है। हालांकि ये खबर जानने के बाद आपको ताज्जुब हो रहा होगा, लेकिन ये सच है।

बता दे कि ये रिवाज मध्य प्रदेश में देखने को मिलता है। वैसे तो मध्य प्रदेश कहने के लिए एक बड़ा राज्य है, लेकिन यहाँ शिवपुरी नाम की एक जगह भी स्थित है। बता दे कि ये जगह धड़ीचा प्रथा के लिए काफी मशहूर है। जी हां यहाँ हर साल एक मंडी लगाई जाती है, जहाँ लड़कियों को एक तरफ खड़ा करके प्रथा के नाम पर उनका सौदा किया जाता है। यहां पर एक मंडी लगती है जहां पर लड़कियों को खड़ा किया जाता है और इसे प्रथा के नाम दिया जाता है। जिसमें हर वर्ष यहां के घरवालें अपनी बेटियों को 1 साल के लीए बेच दिया करते हैं। बता दें कि इस प्रथा के अंतर्गत पुरुष अपनी मर्जी से मन-पसंद लड़की को 1 साल के लिए अपने साथ ले जाते हैं।


आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस खेल में बिकने वाली लड़की को कॉन्‍ट्रेक्‍ट तैयार किया जाता है। जिसमें खरीदने वाले व्यक्ति को महिला या उसके परिवार को एक निश्चित रकम अदा करनी पड़ती है। एक मोटी रकम देने के बाद दोनों पति-पत्नी बन जातें हैं। लेकिन वह तभी तक पति पत्‍नी रहते हैं जबतक पुरुष उसको अपनी पत्‍नी मानता है। क्‍योकि रकम के आधार पर रिश्ते स्थाई नहीं होतें हैं। उन्‍हें खत्म कर दिया जाता है।

वैसे आपको बता दे कि बहुत सी महिलाओं ने इस प्रथा को लेकर अपनी आवाज उठाई लेकिन हर बार उनकी आवाज को दबा दिया गया। यही कारण है कि प्रथा के नाम पर बिकने वाली किसी भी महिला ने आज तक किसी के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं करवाई। बरहलाल हम तो यही उम्मीद करते है कि ये प्रथा जल्द से जल्द खत्म हो जाए ताकि महिलाओ को सुकून से जीने का अधिकार मिल सके।

Top News

Tending Now