फर्जी मुकदमों से तंग, गांव छोड़ जा रहे ग्रामीण!

Daily news network Posted: 2020-02-03 14:10:51 IST Updated: 2020-02-03 14:10:51 IST
फर्जी मुकदमों से तंग, गांव छोड़ जा रहे ग्रामीण!
  • उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले के एक गांव के लोग पलायन को मजबूर हो गए हैं। गांव के लोगों के मुताबिक एससी-एसटी एक्ट के फर्जी मुकदमों से तंग आकर अन्य जातियों के लोग गांव छोड़कर जा रहे हैं।

फिरोजाबाद।

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले के एक गांव के लोग पलायन को मजबूर हो गए हैं। गांव के लोगों के मुताबिक एससी-एसटी एक्ट के फर्जी मुकदमों से तंग आकर अन्य जातियों के लोग गांव छोड़कर जा रहे हैं। ग्रामीणों ने अपने मकानों की बिक्री के लिए बोर्ड लगा दिए है। लोगों ने जिला प्रशासन से न्याय की गुहार लगाई है।


 

 जानकारी के अनुसार जिले के थाना नारखी के गांव गोथुआ में 27 जनवरी को बच्चों के बीच हुए झगड़े ने तूल पकड़ लिया था और दो पक्षों में मारपीट हुई थी। इसके बाद अनुसूचित जाति के एक पक्ष ने गांव के ही कई लोगों पर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करने और अन्य अनर्गल आरोप लगाकर उनके खिलाफ थाने में तहरीर दे दी है। इससे ग्रामीण परेशान हैं।


 

 फर्जी मुकदमे में जेल गए 14 लोग

 ग्रामीणों के अनुसार, गांव में रहने वाले अनुसूचित जाति के लोग पहले भी एससी-एसटी के फर्जी मुकदमे लिखवाकर गांव के 14 लोगों को जेल भिजवा चुके हैं। आरोप है कि एक बार फिर फर्जी मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी की जा रही है। ग्रामीणों का यह भी आरोप है कि जो बच्चे नौकरी की तैयारी कर रहे हैं, उन्हीं को निशाना बनाकर उनके खिलाफ एससी-एसटी एक्ट का मुकदमा लिखवाकर उन्हें जेल भिजवा दिया जा रहा है। मुकदमा दर्ज होने से युवाओं का भविष्य खराब हो रहा है।


 

 परेशान होकर गांव छोडऩे का मन बनाया

 परेशान ग्रामीणों के मुताबिक, लगातार मुकदमों और प्रताडऩा के चलते मजबूरन उन सभी ने अपने-अपने मकान बेचकर गांव छोडऩे का मन बना लिया है। उनका कहना है कि यदि प्रशासन और पुलिस द्वारा उनकी सुनवाई नहीं की जाती है तो वे गांव से पलायन करने को मजबूर होंगे।