इस Painting की कीमत अरबों रुपए है, जानिए क्या है इसमें खास

Daily news network Posted: 2019-07-20 21:02:57 IST Updated: 2019-08-20 14:25:56 IST
इस Painting की कीमत अरबों रुपए है, जानिए क्या है इसमें खास
  • लियोनार्डो दा विंची को तो आप जानते ही होंगे। अगर नहीं जानते तो हम आपको बता दें कि ये दुनिया के उन मशहूर पेंटरों में से एक हैं, जिनकी पेंटिंग करोड़ों-अरबों में बिकती हैं। दुनिया में ऐसे बहुत ही लोग हैं...

दिल्ली

लियोनार्डो दा विंची को तो आप जानते ही होंगे। अगर नहीं जानते तो हम आपको बता दें कि ये दुनिया के उन मशहूर पेंटरों में से एक हैं, जिनकी पेंटिंग करोड़ों-अरबों में बिकती हैं। दुनिया में ऐसे बहुत ही लोग हैं, जो मरने के बाद भी अपने कामों की वजह से हमेशा लोगों के दिलों में जिंदा रहते हैं और लियोनार्डो दा विंची भी उन्हीं में से एक हैं।

 


 लियोनार्डो दा विंची का जन्म 15 अप्रैल, 1452 को इटली के विंची शहर में हुआ था और इसी कारण उनके नाम के आगे विंची लगाया गया है। वह आज भी अपनी प्रतिभा के लिए पूरे विश्व में जाने जाते हैं। कहते हैं कि वह एक ही बार में एक हाथ से लिख और दूसरे हाथ से पेंटिंग बना सकते थे।

 


 दुनिया की सबसे मशहूर पेंटिंग 'मोनालिसा पेंटिंग' लियोनार्डो दा विंची ने ही बनायी थी। कहते हैं कि इस पेंटिंग को अलग-अलग एंगल से देखने पर मोनालिसा की मुस्कुराहट अलग-अलग नजर आती है। उस समय यह कैसे किया गया होगा, यह एक रहस्य ही है। कहते हैं कि लियोनार्डो दा विंची ने मोनालिसा की इस पेंटिंग को साल 1503 में बनाया शुरू किया था, जब वो 51 साल के थे, लेकिन 1519 में पेंटिंग को पूरा किये बिना ही वो इस दुनिया से चले गए। इसका मतलब ये है कि ये पेंटिंग अधूरी ही है, लेकिन देखने पर यह कहीं से भी अधूरी नहीं लगती है।

 


 मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 1962 में इस पेंटिंग की कीमत 100 मिलियन डॉलर यानी करीब 688 करोड़ थी, लेकिन अब इसकी कीमत 830 मिलियन डॉलर यानी करीब 5712 करोड़ रुपये हो गई है। लियोनार्डो दा विंची की इस पेंटिंग में दिख रही महिला कौन है, यह भी एक रहस्य ही है। कुछ लोगों का मानना है कि ये पेंटिंग लियोनार्डो दा विंची की एक कल्पना थी, तो वहीं कुछ लोग यह भी कहते हैं कि यह पेंटिंग एक व्यापारी की पत्नी की है, जो उसने दा विंची स बनवाई थी।

 


 मोनालिसा की पेंटिंग फिलहाल फ्रांस के लॉवरे म्यूजियम में है, जिसे एक खास तरह के कमरे में रखा गया है। साथ ही पेंटिंग को एक बुलेट प्रूफ शीशे के अंदर रखा गया है, ताकि उसे कोई नुकसान न पहुंचा पाये। कहते हैं कि लियोनार्डो दा विंची ने इस पेंटिंग को बनाने में एक ऐसे पेंट ब्रश का इस्तेमाल किया था, जिसकी मोटाई 40 माइक्रो मीटर थी, यानी एक बाल से भी ज्यादा पतली। हैरानी की बात तो ये है कि इतने पतले पेंट ब्रश का इस्तेमालकरने पर भी यह पेंटिंग आज तक सुरक्षित है।

 


 मोनालिसा की इस पेंटिंग के बारे में यह भी कहा जाता है कि इसमें एलियन छुपा हुआ है। हालांकि इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है, लेकिन अगर आप मोनालिसा की दो पेंटिंग्स लेते हैं और दोनों का मुंह बायें और दायें करके मिलाते हैं तो बीच में एक अजीबोगरीब आकृति बनती है, जो सोचने पर मजबूर कर देती है।