यहां रोबोट सुना रहे फैसला, ऑनलाइन हो रहा केस का निपटारा

Daily news network Posted: 2019-12-09 09:42:59 IST Updated: 2019-12-09 09:43:36 IST
यहां रोबोट सुना रहे फैसला, ऑनलाइन हो रहा केस का निपटारा
  • चीन ने न्यायिक अदालतों का बोझ कम करने के लिए ई-कोर्ट खोलकर दुनियाभर में मिसाल कायम की है। चीन के हेंगझाऊ शहर में अगस्त, 2017 में पहली इंटरनेट कोर्ट की स्थापना की गई थी।

बीजिंग।

चीन ने न्यायिक अदालतों का बोझ कम करने के लिए ई-कोर्ट खोलकर दुनियाभर में मिसाल कायम की है। चीन के हेंगझाऊ शहर में अगस्त, 2017 में पहली इंटरनेट कोर्ट की स्थापना की गई थी। जहां पहले ही महीने में 12074 मामले आए, जिनमें से 10391 का निपटारा भी हो गया था। अब इसे बढ़ाकर तीन कर दिया गया है।

 


 

 ई-कोर्ट में ऑनलाइन कारोबार के विवाद, कॉपीराइट के मामले, ई-कॉमर्स प्रोडक्ट के दावों के मामले सुने जा रहे हैं। इसमें सबसे ज्यादा मामले मोबाइल भुगतान के दौरान हुए फ्रॉड और ई-कॉमर्स से जुड़े आ रहे हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि इन कोर्ट में पेशी भी वीडियो चैट के माध्यम से हो सकती है। सुनवाई और जिरह खत्म होने के बाद फैसला भी ऑनलाइन ही मिल जाता है।

 


 

 शिकायतकर्ता जैसे ही ऑनलाइन शिकायत को ऑनलाइन रजिस्टर करते हुए भुगतान खत्म करता है, उसके बाद केस की सुनवाई शुरू हो जाती है। चीन ने मैसेजिंग प्लेटफार्म वी-चैट पर मोबाइल कोर्ट का विकल्प दिया है। इसके माध्यम से चीन नागरिकों को अदालत में शारीरिक रूप से पेश हुए बिना मामले की सुनवाई और इंसाफ की सुविधा प्रदान कर रहा है।