अरुणाचल प्रदेश के इस गांव में रहते हैं सिर्फ 12 परिवार, कुल आबादी 76

Daily news network Posted: 2018-03-31 21:22:56 IST Updated: 2018-03-31 21:22:56 IST
अरुणाचल प्रदेश के इस गांव में रहते हैं सिर्फ 12 परिवार, कुल आबादी 76
  • अरुणाचल प्रदेश में एक ऐसा गांव है जहां सिर्फ 12 परिवार ही रहते हैं और उस गांव की कुल आबादी 76 है। अरुणाचल में चीन की सीमा से सटे हुए क्षेत्र में आबादी काफी कम है।

ईटानगर।

अरुणाचल प्रदेश में एक ऐसा गांव है जहां सिर्फ 12 परिवार ही रहते हैं और उस गांव की कुल आबादी 76 है। अरुणाचल में चीन की सीमा से सटे हुए क्षेत्र में आबादी काफी कम है।

 


 चाइना लाइन ऑफ कंट्रोल (एलएसी) के नजदीक स्थित एक ऐसा गांव काहु है, जिसमें सिर्फ 12 परिवार रहते हैं। इस गांव की कुल आबादी केवल 75 है।

 


 दरअसल, अरुणाचल प्रदेश में स्थित इस गांव में मेयोर जनजाति के लोग रहते हैं। ये ऐसी जनजाति है, जिसके बारे में कम ही लोग जानते हैं। इसीलिए यहां सुविधाओं का भी बेहद अभाव है। गांव तक पहुंचने के लिए अच्‍छी सड़क नहीं है और न ही नेटवर्क कनेक्टिविटी है। यहां रहने वाले लोग बेहद मुश्किल में दिन काट रहे हैं।


 हालांकि, गांव के मुखिया ने बताया कि भारतीय सेना उनकी काफी मदद करती है। उन्‍होंने कहा कि भारतीय सेना उन्हें कॉल और अन्य सेवाएं भी समय-समय पर प्रदान करती रहती है, जिससे उनकी कुछ समस्‍याएं हल हो जाती हैं। गांव के सरपंच कंचोक मेयोर ने बताया, 'हम सात पीढ़ियों से यहां रह रहे हैं। यहां कुल 12 परिवार हैं और कुल 76 से 80 लोग यहां रहते हैं। इस गांव में बुनियादी सुविधाओं की कमी है। खासकर सड़कों की स्थिति बेहद खराब है, यहां तक ​​कि मोबाइल नेटवर्क भी यहां नहीं आता है।'


 उन्‍होंने बताया, 'निकटतम मोबाइल नेटवर्क हवाई में है, उनके गांव से लगभग 65 किलोमीटर की दूरी पर है। ऐसे में सेना से हमें बहुत मदद मिलती है। ये हमें कॉल और अन्य सेवाएं प्रदान करते हैं। इस गांव में छह से सात बाइक हैं, जिनका हम रस्सी के पुल को पार करने के लिए इस्तेमाल करते हैं। हम चाहते हैं कि कम से कम एक पुल बना दिया जाए, ताकि हमें आने-जाने की सुविधा हो सके।'


 गौरतलब है कि न केवल बुनियादी ढांचा, गांव में शिक्षा की मूल सुविधा का भी अभाव है, क्योंकि यहां केवल एक प्राथमिक विद्यालय है।