Nagaland से जाएगा हिमालयन भालू और Meghalaya से हुक्कू बंदर, बढ़ेगी यहां की शान

Daily news network Posted: 2019-01-01 09:44:13 IST Updated: 2019-01-11 16:29:29 IST
Nagaland से जाएगा हिमालयन भालू और Meghalaya से हुक्कू बंदर, बढ़ेगी यहां की शान
  • नए साल में नागालैंड से हिमालयन काला भालू और लेपर्ड कैट, मेघालय से हुक्कू बंदर का जोड़ा, नई दिल्ली से सफेद बाघिन, चेक गणराज्य से फ्लेमिंगो, त्रिपुरा से स्पैक्टल्ड लंगूर और पिगटेल मकाऊ, बेंगलुरु का दरियाई घोड़ा लखनऊ के चिड़ियाघर की शान बढ़ाएंगे।

नई दिल्ली।

नए साल में नागालैंड से हिमालयन काला भालू और लेपर्ड कैट, मेघालय से हुक्कू बंदर का जोड़ा, नई दिल्ली से सफेद बाघिन, चेक गणराज्य से फ्लेमिंगो, त्रिपुरा से स्पैक्टल्ड लंगूर और पिगटेल मकाऊ, बेंगलुरु का दरियाई घोड़ा लखनऊ के चिड़ियाघर की शान बढ़ाएंगे। यह जानकारी बाघ संरक्षण माह के समापन पर चिड़ियाघर के निदेशक आर के सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि इसके लिए केन्द्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण, नई दिल्ली से मंजूरी मिल चुकी है। मार्च तक इन वन्यजीवों की कम से कम पांच से छह प्रजातियां चिड़ियाघर में दर्शकों को देखने को मिलेंगी।


 नौ बच्चों को मिला अवॉर्ड

 बाघ संरक्षण माह के समापन के मौके पर निबंध प्रतियोगिता में अच्छा लिखने वाले स्टूडेंट्स को सम्मानित किया गया। प्रतियोगिता तीन कैटिगरी में हुई, जिसमें कक्षा छह से आठ की कैटिगरी में रेनबो पब्लिक स्कूल की मुस्कान शाह, कक्षा नौवीं और 10 वीं में पायनियर, एल्डिको के प्रज्ज्वल जायसवाल ने, टी डी गर्ल्स इंटर कॉलेज की तनु यादव ने पहला पुरस्कार जीता। आयुष चैहान, प्रमिला कमल और पारुल कश्यप ने दूसरा पुरस्कार जीता। तीसरा पुरस्कार साध्यर्षि दुबे, अनुष्का अग्रवाल और अमिता कश्यप ने अपने नाम किया। सभी स्टूडेंट्स को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) पवन कुमार ने अवॉर्ड दिया।

 

 

 दिसंबर में दो लाख बीस हजार लोग पहुंचे जू

 निदेशक ने बताया कि इस साल दिसंबर में करीब दो लाख 20,000 दर्शक प्राणि उद्यान का भ्रमण करने पहुंचे, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में करीब 28,600 ज्यादा है। दर्शकों में सबसे ज्यादा संख्या में चिड़ियाघर घूमने आने वालों में स्कूली बच्चों की रही।