भयावह प्रथा, यहां लोग मिलकर उतारते हैं लड़की के वस्त्र, जिंदगी भर नहीं होती शादी

Daily news network Posted: 2019-09-02 17:39:54 IST Updated: 2019-09-02 17:40:11 IST
भयावह प्रथा, यहां लोग मिलकर उतारते हैं लड़की के वस्त्र, जिंदगी भर नहीं होती शादी
  • आज हम आपकाे उस प्रथा के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। इस प्रथा में एक लकड़ी के 5 लाेग मिलकर कपड़े उतारते हैं।

आज हम आपकाे उस प्रथा के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। इस प्रथा में एक लकड़ी के 5 लाेग मिलकर कपड़े उतारते हैं। ऐसा तब किया जाता है जब बच्ची के बालों में लट पड़ जाए। गरीब परिवारों में साबुन से न नहाने या गंदगी में रहने के कारण ऐसा होता है, तो उस बेटी को देवता को समर्पित करना होगा।


 एक आयोजन में बच्ची को मंदिर को समर्पित किया जाता है, जहां पांच लोग मिलकर उसके कपड़े उतारते हैं। उसके बाद उस लड़की की जिंदगी भर शादी नहीं होती। वे मंदिरों में ही रहती हैं। उन्हें सार्वजनिक संपत्ति माना जाता है। वहां क्या होता है, आप जानते हैं। बड़ी संख्या में देवदासियां अंत में वेश्यालयों में पहुंच जाती है।

 


कर्नाटक के मंदिरों में राज्य सरकार के मुताबिक 9,733 देवदासियां हैं। मुंबई में उन्होंने अपने कपड़े उतारकर प्रदर्शन किया था। यह प्रथा किसी न किसी रूप में देश के कई हिस्सों में जारी है।