पांच साल की उम्र से खा रही थी बाल, अचानक हुआ पेट दर्द तो हुआ ये हाल

पांच साल की उम्र से खा रही थी बाल, अचानक हुआ पेट दर्द तो हुआ ये हाल Weird News

लोहिया अस्पताल में पेट दर्द की शिकायत पर किशोरी का ऑपरेशन करके चिकित्सकों ने बालों का गुच्छा निकाला। डॉक्टरों का कहना था कि समय रहते ऑपरेशन होने से किशोरी की जान बच गई।

फर्रुखाबाद।

कई बच्चों को बचपन से बहुत बुरी आदतें होती है उसी तरह बालों के खाने की आदत भी होती है। इस आदत के कारण किशोरी की जान पर बन आई, उसके पेट में बालों का चार किलो का गुच्छा निकाला गया। लोहिया अस्पताल में पेट दर्द की शिकायत पर किशोरी का ऑपरेशन करके चिकित्सकों ने बालों का गुच्छा निकाला। डॉक्टरों का कहना था कि समय रहते ऑपरेशन होने से किशोरी की जान बच गई। ये घटना तहसील कायमगंज के गांव मई रसीदपुर निवासी सुनील कुमार की 15 वर्षीय बेटी शिवानी की है जिसको कुछ दिनों से पेट दर्द की शिकायत थी। बीते दिनों सुनील कुमार ने बेटी को लोहिया अस्पताल में डॉ. इमरान अली को दिखाया।


डॉ. इमरान अली ने शिवानी की जांचें करवाईं तो उसके पेट में बालों का गुच्छा होने रिपोर्ट आई। सर्जन डॉ. इमरान अली ने शिवानी का ऑपरेशन किया। ऑपरेशन के दौरान उसके पेट से चार किलो बालों का गुच्छा निकला। बाल खाने की आदत घरवालों ने डॉक्टर को बताया कि शिवानी को पांच साल की उम्र से बालों को खाने की लत लग गई थी। डॉ. इमरान अली का कहना था कि बालों के खाने के चलते ही उसके पेट में बाल एकत्र होते गए और उनका गुच्छा बन गया।


पेट में नहीं पचते बाल

डॉक्टर ने बताया कि बाल खाने की आदत को रेंपुंजल ङ्क्षसड्रोम कहते हैं। ऐसा बच्चे तब करते हैं, जब उन्हें इग्नोर किया जाता है या वो खुद को बहुत अकेला महसूस करते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बाल हमारे पेट में पचते नहीं हैं। थोड़े बहुत छोटे बाल हमारे मल के साथ बाहर भी निकल सकते हैं, लेकिन बड़े बाल बाहर नहीं आते। उसके बाद पेट दर्द और बदहजमी जैसी दिक्कतें पैदा होने लगती हैं। अगर इसको नजरअंदाज किया जाए तो अंत में पेट दर्द होकर इंसान की मौत भी हो सकती है।

Top News

Tending Now