यहां छिपा है 680 टन सोना, लेकिन अबतक कोई नहीं कर पाया हासिल, खौफनाक है वजह

यहां छिपा है 680 टन सोना, लेकिन अबतक कोई नहीं कर पाया हासिल, खौफनाक है वजह
Weird News

सबको पता है कि भारत भी किसी जमाने में सोने की चिड़िया कहा जाता था क्यों कि यहाँ इतना सोना था कि कोई सोच भी नहीं सकता। इसी तरह आज हम आपको दुनिया के एक ऐसे गाँव के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ करीब 700 टन सोना छिपा है।

सबको पता है कि भारत भी किसी जमाने में सोने की चिड़िया कहा जाता था क्यों कि यहाँ इतना सोना था कि कोई सोच भी नहीं सकता। इसी तरह आज हम आपको दुनिया के एक ऐसे गाँव के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ करीब 700 टन सोना छिपा है। लेकिन कोई भी इसे ले नहीं जा पाता। इसके पीछे एक खौफनाक रहस्य छिपा है।


दरअसल, कोलंबिया के एक छोटे से गांव काजामारका के नीचे 680 टन सोना दबा हुआ है। मौजूदा समय में इसकी कीमत लगभग 2.43 लाख करोड़ रुपये हैं। लेकिन गांव वालों ने इसकी खुदाई के लिए ये कहकर मना कर दिया है कि यदि पर्यावरण बचेगा तो ही हम बच पाएंगे। उनका कहना है कि आने वाली पीढ़ी को बेहतर सेहत और पर्यावरण मिले। सबसे खात बात ये कि इस सोने की खुदाई हो या नहीं इसके लिए वोटिंग ( Voting ) का रास्ता अपनाया गया। जहां 19 हजार लोगों में से महज 79 लोग ही खुदाई के पक्ष में दिखे।


कोलंबिया सरकार के मुताबिक इस गांव में जो सोना दबा हुआ है ये सोने का भंडार दक्षिण अमेरिका का अब तक का सबसे बड़ा सोने का भंडार है। सरकार ने सोचा था कि यहां तो मार्क्सवादी विद्रोही अब खत्म हो गए हैं। ऐसे में सोने की खुदाई आसानी से की जा सकेगी। लेकिन सरकार की उम्मीदों को उस वक्त धक्का लगा जब यहां खुदाई के लिए वोटिंग की गई। वहीं कोलंबिया के खनन मंत्री जर्मन एर्स का कहना है कि इस मामले में लोगों को गुमराह किया गया है। साथ ही जर्मन खुदाई के लिए हुई इस वोटिंग से खुश नहीं हैं।



Top News

Tending Now