इस लड़की को डांस करना पड़ा भारी, पुलिस ने किया कुछ ऐसा, VIDEO वायरल

Daily news network Posted: 2018-07-09 17:46:11 IST Updated: 2018-08-21 15:38:16 IST
  • मुस्लिम देश ईरान से एक ऐसा चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जिसमें ईरान की एक महिला को इसलिए हिरासत में ले लिया, क्‍योंकि उसने अपने कमरे में किए रिकार्ड किए गए एक डांस वीडियो को इंस्‍ट्राग्राम पर पोस्ट कर दिया।

नर्इ दिल्ली।

मुस्लिम देश ईरान से एक ऐसा चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जिसमें ईरान की एक महिला को इसलिए हिरासत में ले लिया, क्‍योंकि उसने अपने कमरे में किए रिकार्ड किए गए एक डांस वीडियो को इंस्‍ट्राग्राम पर पोस्ट कर दिया।

दरअसल र्इरान की राजधानी तेहरान में रहने वाली एक महिला का डांस की बेहद शौकीन है। उसने अपने इसी शौक को पूरा करने के लिए अपने कुछ डांस वीडियो बनाए और उन्‍हे इंस्‍ट्राग्राम में डाल दिए। ईरानी की इस युवती का डांस वीडियो देखते ही देखते सोशल नेटवर्किंग साइट में वायरल हो गया। युवती के इस डांस वीडियो को भले ही दुनिया के हजारों लोगों ने पसंद किया, लेकिन यह वीडियो ईरान की पुलिस और प्रशासन को हजम नहीं हुआ।

 

 डांस वीडियो के सामने आते ही तेहरान की पुलिस ने इस युवती को हिरासत में ले लिया। युवती के डांस वीडियो की तरह, उसको हिरासत में लेने के बात भी पुरी दुनिया में फैल गई। चारों तरफ ईरान पुलिस द्वारा की गई इस कार्रवाई की आलोचना की जा रही है। इस आलोचना के बावजूद ईरान पुलिस अपने इरादे पर अटल बनी हुई है। मीडिया में आई खबरों के अनुसार, 18 वर्षीय मेहेद होजब्री के इस डांस वीडियो को वहां के राष्‍ट्रीय टीवी चैनल में प्रसारित किया गया।

 

 जिसके बाद, इस युवती पर नैतिक मानदंडों को तोड़ने का आरोप लगाते हुए स्‍थानीय पुलिस ने हिरासत में ले लिया। ईरानी की पुलिस ने दावा किया है कि 18 वर्षीय मेदेह होजब्री ने नैतिक मानदंडों को तोड़ने के आरोपों को स्वीकार किया है।उसने अपने बयान में कहा है कि उसका इरादा किसी भी तरह से नैतिक मानदंडों को तोड़ने का नहीं था।उल्‍लेखनीय है कि 18 वर्षीय मेहेद होजब्री ने अपने इंस्‍ट्राग्रांम एकाउंट से करीब 300 से अधिक वीडियो और पिक्‍चर शेयर की है।

 जिसमें कई वीडियों में उसने डांस किया है। आरोप है कि मेहेद होजब्री ने अनिवार्य इस्‍लामी हेडकार्फ (हिजाब) पहने बिना इन वीडियो में डांस किया है। इस मामले के सामने आने के बाद ईरानी पुलिस ने कहा है कि वे इंस्‍ट्राग्रांम पर चल रहे इस तरह के तमाम खातों पर प्रतिबंध लगाने की योजना तैयार कर रहे हैं। जिसके तहत न्‍यायपालिका के जरिए इस साइट पर प्रतिबंध लगाने की बात पर भी विचार किया जा रहा है। उल्‍लेखनीय है कि ईरान में पहले से फेसबुक, ट्विटर सहित अन्य सोशल मीडिया पर प्रतिबंध है। इस प्रतिबंध के बावजूद कई लोग उन्हें प्रॉक्सी और वीपीएन के माध्यम से एक्सेस कर रहे हैं।