नग्न प्रदर्शन का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

Daily news network Posted: 2019-02-02 18:05:31 IST Updated: 2019-02-02 18:05:31 IST
नग्न प्रदर्शन का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल
  • असम में नागरिकता(संशोधन)विधेयक को लेकर विरोध प्रदर्शन तेज हो गए हैं। शुक्रवार को वायरल हुए एक रैप वीडियो में तीन प्रदर्शनकारी नग्न होकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के विरोध में नारेबाजी करते नजर आ रहे हैं।

गुवाहाटी।

असम में नागरिकता(संशोधन)विधेयक को लेकर विरोध प्रदर्शन तेज हो गए हैं। शुक्रवार को वायरल हुए एक रैप वीडियो में तीन प्रदर्शनकारी नग्न होकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के विरोध में नारेबाजी करते नजर आ रहे हैं। असम के वित्त मंत्री हिमंता बिस्व सरमा ने इस नग्न प्रदर्शन को राज्य की संस्कृति के खिलाफ बताया है। रैपर राहुल राजखोआ ने यह वीडियो अपलोड किया जो जल्द ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। 


 

वीडियो में नागरिकता(संशोधन)विधेयक को लेकर असम के लोगों का गुस्सा दिखाया गया है। इसके अलावा जेएनयू के बुद्धिजीवी प्रस्तावित विधेयक से असम और उत्तर पूर्वी राज्यों के सामाजिक सौहार्द, पारिस्थितिकी और जनसांख्यिकी पर पडऩे वाले प्रभाव पर सवाल उठाते नजर आ रहे हैं। कृषक मुक्ति संग्राम समिति(केएमएसएस) के तीन प्रदर्शनकारियों ने राज्य सचिवालय कॉम्प्लेक्स के सामने होकर प्रदर्शन किया और जमकर नारे लगाए। पुलिस कर्मियों ने तुरंत दौड़कर प्रदर्शनकारियों को कंबल से ढंक दिया। इन लोगों को तत्काल हिरासत में लिया गया। 


 

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि असम की भाजपा सरकार राज्य के लोगों को उनकी पहचान, संस्कृति और भाषा से वंचित रखने का प्रयास कर रही है। हम लोगों ने इसी के खिलाफ नग्न होकर सांकेतिक प्रदर्शन किया है। रैपर राहुल राजखोआ कहते हैं, इस विधेयक के बारे में असम और पूरे देश की जनता को बताने के लिए मैंने रैप लिखा और यह वीडियो बनाया। मैं पहले असमी में गाना लिख रहा था लेकिन बाद में मुझे लगा कि इसे सिर्फ असम के लोग ही समझ पाएंगे और अन्य राज्यों के निवासी अछूते रह जाएंगे इसलिए अंग्रेजी में रैप बनाया। अन्य राज्यों के अधिकांश लोगों को मालूम ही नहीं है कि ये कैसा विधेयक है और लोग क्यों इसका विरोध कर रहे हैं। अब वीडियो वायरल होने के बाद लोग मुझे फोन कर इस बिल के बारे में जानने की कोशिश कर रहे हैं।